मेरठ । दिल्ली के रामलीला मैदान में होनी वाली धर्मसभा को लेकर बिजली बंबा बाईपास पर रविवार को निर्माण कार्य बंद रहेगा। सोमवार (कल) सुबह नौ बजे तक बाईपास पर वाहनों के आवागमन को छूट दी गई है। उधर, आशंका है कि दिल्ली-मेरठ स्टेट हाईवे पर वाहनों का जबरदस्त दबाव रहेगा। यातायात स्थिति बुरी तरह चरमरा सकती है। बावजूद इसके, यातायात पुलिस ने कोई इंतजाम नहीं किया है।

ट्रैफिक पुलिस से वार्ता के बाद शनिवार दोपहर तीन बजे बाईपास पर लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) ने काम बंद कर दिया। अनौपचारिक रूप से हल्के वाहनों की आवाजाही तो दोपहर से ही शुरू हो गई थी। शाम पांच बजे वाहनों के आवागमन को पूरी तरह हरी झंडी दिखा दी गई। यातायात पुलिस के मुताबिक, दिल्ली में विश्व ¨हदू परिषद, आरएसएस व अन्य संगठनों की धर्मसभा के लिए बाईपास से काफी संख्या में वाहन गुजरेंगे। शहर के अंदर यातायात प्रभावित न हो, इसलिए बाईपास सोमवार सुबह नौ बजे तक खोला गया है। बाईपास पर चार किमी. तक हुआ निर्माण

पांच दिसंबर से लोनिवि ने बाईपास पर काम शुरू किया था। करीब 7.5 किमी लंबे बाईपास पर डेढ़ करोड़ की लागत से कंक्रीट की एक परत बिछाई जानी है। 14 दिसंबर तक के लिए इसे बंद रखने की घोषणा की गई है। पहले तीन दिन बेहद धीमी गति से काम चलने के बाद चौथे दिन काम तेजी से चला और लगभग चार किमी. कार्य पूरा कर लिया गया। ट्रैफिक पुलिस ने रामभरोसे छोड़ा हाईवे

बाईपास खुलने के बाद पहले की तरह रविवार को भी इस पर दबाव रहेगा। धर्मसभा में जाने वाले वाहन भी इससे गुजरेंगे तो दबाव और अधिक बढ़ेगा। इसके बाद भी कोई डायवर्जन की व्यवस्था नहीं की गई। इसी तरह दिल्ली-मेरठ हाईवे पर भी वाहनों का जबरदस्त दबाव रहेगा। वहां भी डायवर्जन या कोई अतिरिक्त ड्यूटी नहीं लगाई गई है। वाहनों का दबाव बढ़ेगा तो हाईवे जाम हो जाएगा। रोजमर्रा में ही हाईवे पर वाहन रेंगते रहते हैं। इन प्रेशर प्वाइंटों पर बिगड़ सकती है स्थिति

-परतापुर तिराहा : दिल्ली-मेरठ हाईवे पर यह स्थान सबसे अहम प्रेशर प्वाइंट हैं, जहां दिल्ली, मुजफ्फरनगर व दिल्ली रोड से वाहनों का आवागमन होता है।

-दैनिक जागरण चौराहा : यहां भी परतापुर और मेवला फ्लाईओवर के अलावा बिजली बंबा बाईपास के वाहनों का दबाव रहता है।

-टीपीनगर कट : दिल्ली रोड स्थित इस स्थान पर रोजमर्रा में ही जाम रहता है। वाहन बढ़ेंगे तो यहां समस्या पैदा होनी तय मानी जा रही है।

-एल ब्लॉक चौकी : हापुड़ रोड स्थित इस स्थान पर भी कई जगहों से वाहनों की आवाजाही होने से जबरदस्त दबाव रहता है। यह होनी चाहिए व्यवस्था

-हापुड़ रोड से दिल्ली हाईवे की ओर जाने वाले भारी वाहनों को खरखौदा मार्ग से निकाला जाए। इसी तरह वापसी में ही इसी रूट को प्रभावी किया जाए।

-परतापुर तिराहे से दिल्ली रोड की ओर जाने वाले भारी वाहनों को बागपत रोड फ्लाईओवर या रोहटा रोड फ्लाईओवर से शहर में एंट्री दी जाए।

-गाजियाबाद की ओर से आने वाले वाहनों को मुरादनगर नहर से मेरठ के लिए डायवर्ट किया जाए, ताकि मुरादनगर और मेरठ के बीच दबाव कम रहे। यातायात व्यवस्था कतई नहीं बिगड़ने दी जाएगी। यदि जरूरत हुई तो कुछ जगह डायवर्जन तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया जाएगा।

-संजीव कुमार वाजपेयी, एसपी-यातायात।

बाईपास पर निर्धारित तिथि से पहले काम काम निपटा लिया जाएगा। धर्मसभा को देखते हुए एक दिन काम बंद किया गया है।

-प्रताप सिंह, एक्सईएन-लोनिवि।

Posted By: Jagran