मुजफ्फरनगर, जागरण संवाददाता। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि 2022 में गठबंधन की सरकार बनी तो वह मुजफ्फरनगर में मेडिकल कालेज या अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की सौगात देंगे।

शुक्रवार को अखिलेश यादव मुजफ्फरनगर पहुंचे। यहां सपा-रालोद की संयुक्त प्रेस वार्ता में उन्होंने गठबंधन की सरकार बनने पर प्रदेश में महिला सुरक्षा, 15 दिन में गन्ना भुगतान, 300 यूनिट बिजली बिल माफ करने समेत अन्य वादे किए। कहा-प्रदेश में गठबंधन की सरकार बनते ही मुजफ्फरनगर जिले में एम्स का निर्माण कराएंगे। एम्स निर्माण के लिए केंद्र सरकार पर भी निर्भर रहना पड़ता है, लेकिन वह सरकार बनते ही इसका प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजेंगे। यदि एम्स निर्माण में केंद्र सरकार से मदद नही मिलती है तो यहां एक मेडिकल कालेज का निर्माण प्रदेश स्तर पर जरूर कराया जाएगा।

प्रचार वाहन की अनुमति न मिलने पर फूटा गुस्सा

संयुक्त प्रेस वार्ता में रालोद अध्यक्ष चौधरी जयंत सिंह का गुस्सा स्थानीय प्रशासन पर भी फूटा। उन्होंने कहा कि उनके बुढ़ाना विस. सीट के प्रत्याशी क्षेत्र में प्रचार के लिए प्रशासन से प्रचार वैन की अनुमति मांग रहे हैं। आनलाइन आवेदन भी किया है, लेकिन अनुमति नहीं दी जा रही। जबकि भाजपा ने अपने प्रचार वाहन सड़कों पर उतार रखे हैं। चुनाव आयोग से इसकी शिकायत की जाएगी।

हेलीपैड पर समर्थकों ने किया हंगामा

अखिलेश यादव को दोपहर एक बजे मुजफ्फरनगर पहुंचना था, लेकिन दिल्ली में सुरक्षा कारणों की जानकारी देकर उनके हेलीकाप्टर की उड़ान कई घंटे देरी से कराई गई। अखिलेश यादव ने यह जानकारी ट्वीट कर दी तो राजकीय इंटर कालेज में बने हेलीपैड पर उनके स्वागत के इंतजार में खड़े समर्थकों ने नारेबाजी और हंगामा किया। पुलिस ने उन्हें शांत कराया।

सेल्फी लेने के लिए आगे-पीछे भागते रहे समर्थक

प्रेस वार्ता के बाद अखिलेश यादव मेरठ रोड स्थित होटल में खड़े विजय रथ में सवार होकर खतौली की तरफ बढ़ गए। उनके स्थानीय समर्थक सेल्फी के लिए आगे-पीछे भागते रहे। काफी सपा, रालोद नेता तथा कार्यकर्ता होटल के बाहर भी उनके बाहर निकलने का इंतजार करते रहे। इस दौरान अधिकतर नेताओं और कार्यकर्ताओं ने मास्क नहीं लगा रखा था। इससे कोविड नियमों की भी धज्जियां उड़ती रहीं।

Edited By: Taruna Tayal