मेरठ, जागरण संवाददाता। हस्तिनापुर के चुनावी रण में दो भाजपाई एक दूसरे के सामने डट गए हैं। दिनेश खटीक के खिलाफ पूर्व विधायक गोपाल काली और उनके पुत्र अर्जुन काली दोनों ने नामांकन पत्र लिया है। पिता-पुत्र की जोड़ी चुनाव मैदान में पूरी ताकत से दिनेश खटीक की घेराबंदी को उतरेगी। वहीं, सिवालखास विस सीट से भाजपा ने मनिंदरपाल सिंह को टिकट दिया है। दूसरे दिन भी कुछ नेताओं के इशारे पर बड़ी संख्या में लोगों ने क्षेत्रीय कार्यालय पहुंचकर प्रदर्शन किया। उन्होंने क्षेत्रीय महामंत्री विकास अग्रवाल को ज्ञापन सौंप स्थानीय चेहरे को टिकट देने की मांग की। क्षेत्रीय अध्यक्ष मोहित बेनीवाल ने आक्रोशित लोगों को समझाया।

हस्तिनापुर से पूर्व विधायक गोपाल काली वर्तमान विधायक दिनेश खटीक पर लगातार हमलावर हैं। गत दिनों दिनेश को राज्यमंत्री बनाए जाने पर काली ने इंटरनेट मीडिया में आरोपों की झड़ी लगाते हुए कई वरिष्ठ भाजपाइयों को भी लपेटे में लिया था। 2017 में दिनेश का टिकट होने पर भी काली ने जमकर विरोध किया था।

गत पंचायत चुनाव में दिनेश ने घेराबंदी करते हुए गोपाल काली के पुत्र अर्जुन काली का टिकट नहीं होने दिया, जिसके बाद फिर दोनों के बीच तलवार खिंच गईं। 15 जनवरी को दिनेश का विधानसभा चुनाव टिकट होने के बाद काली ने उनके खिलाफ जमीन गबन एवं भ्रष्टाचार के आरोप लगाए।

शहर विस क्षेत्र के प्रत्याशी कमलदत्त शर्मा को उनके पुराने विवादों को सामने लाकर घेरने का प्रयास किया जा रहा है। वैश्यों का एक वर्ग नाराज बताया गया है।

यह भी पढ़ें: यूपी चुनाव 2022: मेरठ दक्षिण सीट से आदिल चौधरी और सिवालखास से गुलाम मोहम्मद को टिकट

Edited By: Taruna Tayal