बुलंदशहर, जागरण संवाददाता। जिले की सातों सीटों पर काबिज भाजपा ने अपना दुर्ग बचाने की रणनीति में बड़ा फैसला लिया। जिले की सात में चार सीटों पर भाजपा ने मौजूदा विधायकों के टिकट काट दिए। उनके स्थान पर नए चेहरों को तवज्जो दी गई है।

अनीता लोधी, विमला सोलंकी, उषा सिरोही व बिजेन्द्र खटीक का कटा टिकट

भाजपा टिकट की लड़ाई में राज्यमंत्री अनिल शर्मा, देवेन्द्र लोधी व संजय शर्मा अपना टिकट बचाने में सफल रहे। अनीता लोधी, विमला सोलंकी, उषा सिरोही व बिजेन्द्र खटीक अपना टिकट बचाने में असफल रहे। पार्टी आलाकमान के फैसले से भाजपा खेमे में सन्नाटा फैल गया है। टिकट नहीं मिलने पर जहां तीन विधायकों ने चुप्पी साध ली वहीं, विमला सोलंकी ने आलाकमान के इस फैसले पर नाराजगी जाहिर करते हुए समर्थकों से बातचीत कर आगामी रणनीतिक फैसला लेने की बात कही।

पिछले चुनाव में भाजपा ने सातों सीटों पर जमाया था कब्जा

जिले में सात विधानसभा सीट हैं। पिछले चुनाव में सातों पर भाजपा का कब्जा था। बुलंदशहर सदर सीट पर विधायक वीरेन्द्र सिरोही के निधन के बाद उपचुनाव हुआ। इसमें वीरेन्द्र सिरोही की पत्नी उषा सिरोही को टिकट दिया गया। उन्होंने यहां से बीस हजार से ज्यादा वोटों से जीत हासिल की थी। इस विधानसभा चुनाव में भी पार्टी पुराना इतिहास दोहराने की पुरजोर कोशिश में है। चुनाव की घोषणा से पूर्व ही जिले की कई सीटों पर टिकट कटने की चर्चाएं थी। सिकंदराबाद, बुलंदशहर सदर, खुर्जा, शिकारपुर व डिबाई पर बदलाव की चर्चाएं थी। पार्टी आलाकमान को यहां से अलग-अलग बिन्दुओं पर शिकायत मिल रही थी। शनिवार को टिकट घोषित होने से पूर्व तक सातों विधायकों के दिल की धड़कन बढ़ी हुई थी कि कहीं उनका टिकट न कट जाए। दोपहर में भाजपा आलाकमान ने डिबाई से अनिता लोधी, सिकंदराबाद से विमला सोलंकी, बुलंदशहर सदर से उषा सिरोही व खुर्जा से बिजेन्द्र खटीक के टिकट काटने की घोषणा कर दी।

पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष प्रदीप चौधरी को बुलंदशहर से टिकट

खुर्जा से मीनाक्षी सिंह को टिकट दिया गया। वह काफी समय से टिकट की लाइन में थी। इसके अलावा दो बार सिकंदराबाद से विधायक रही विमला सोलंकी का टिकट काटकर संगठन से जुड़े रहे युवा लक्ष्मीराज को प्रत्याशी बनाया गया। बुलंदशहर सदर सीट पर पार्टी ने पूर्व कैबिनेट मंत्री रहे स्व. वीरेन्द्र सिरोही की वर्तमान विधायक पत्नी उषा सिरोही का टिकट काटकर प्रदीप चौधरी को टिकट दिया है। प्रदीप चौधरी पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रहे हैं। डिबाई सीट पर विधायक अनीता लोधी का टिकट काट दिया गया। यहां से सीपी ङ्क्षसह को टिकट दिया गया। सीपी सिंह को पूर्व सीएम कल्याण सिंह के परिवार का करीबी बताया गया है। टिकट की घोषणा के साथ ही कही खुशी कही गम का माहौल रहा। जिन्हें टिकट मिला, वहां ढोल नगाड़े बजाकर मिठाई बांटी गयी। वहीं चारों वर्तमान विधायकों के आवास पर सन्नाटा व समर्थक मायूस दिखायी दिए। चारों विधायकों के फोन बंद हो गए। पार्टी कार्यालय पर टिकट पाने वाले प्रदीप चौधरी, लक्ष्मीराज का स्वागत भी किया गया।

 

Edited By: Parveen Vashishta