सहारनपुर, जागरण संवाददाता। गंगोह थानाक्षेत्र के गांव कुंडा कला निवासी आतंकी नदीम को यूपी एटीएस ने दबोच लिया। एटीएस की जांच में उसके कई राज सामने आ रहे हैं। नदीम केवल आठवीं तक पढ़ा था, लेकिन वह इंटरनेट का अच्‍छा-खासा जानकार हो गया। वह आतंकियों के लिए सोशल मीडिया पर आइडी भी बनाने लगा था।वेस्‍ट यूपी के कई युवाओं की गर्दन तक जल्द पहुंचेंगे एटीएस के हाथ

एटीएस को पता चला है कि नदीम पश्चिमी उत्तर प्रदेश और देहरादून के कई युवकों के संपर्क में था। वह युवाओं को अपने साथ पाकिस्‍तान चलने के लिए लालच दे रहा था। एटीएस के पास इन युवाओं की कुंडली है। जल्द ही इन युवकों से पूछताछ होगी। नदीम के पिता से भी पूछताछ हो सकती है।

आठवीं पास होते हुए भी बन गया इंटरनेट अच्‍छा जानकार 

नदीम केवल आठवीं तक पढ़ा था। वह इंटरनेट पर रोजाना तीन से चार घंटे बिताता था। नदीम ने पांच साल पहले एंड्रायड फोन लिया था। अनपढ़ होने के कारण नफीस उसके बारे में पता नहीं कर पाता था। नदीम की अभी शादी नहीं हुई है। इंटरनेट का जानकार होने के कारण ही वह आतंकियों के लिए सोशल मीडिया पर आइडी बना रहा था।देहरादून में आया था कश्मीरी युवकों के संपर्क में

नदीम करीब दो साल पहले देहरादून नौकरी करने गया था। वहीं पर उसकी मुलाकात कुछ कश्मीरी युवकों से हुई। इन्हीं के साथ वह कमरा किराए पर लेकर रहता था।  

अक्सर चुप रहता था नदीम, नहीं करता था दोस्ती

कुंडा कलां के ग्रामीणों का कहना है कि नदीम को किसी से दोस्ती पंसद नहीं थी। वह अधिकतर चुप रहता था। लोगों से बातचीत में भी ज्यादा रुचि नहीं लेता था। घर में भी वह अधिकतर खुद को एक ही कमरे में बंद रखता था। 

नदीम को लगातार पैसों का लालच दे रहे थे आतंकी संगठन 

नदीम पाकिस्तान जाना चाहता था। उसने कई बार पिता से कहा तो उन्होंने इंकार कर दिया। नदीम रिश्तेदारी की आड़ में पाकिस्तान में आतंकी ट्रेनिंग लेना चाहता था। उसकी वाट्सएप चैट से राजफाश हुआ है कि पाकिस्तानी आतंकी संगठन उसे पैसा का लालच दे रहा था। वह सीरिया, अफगानिस्तान का वीजा लेने की कोशिश में भी लगा था। 

दूसरे भाई के बारे में नहीं है अता-पता

नफीस का कहना है कि एटीएस उसके दूसरे बेटे तैमूर को भी ले गई थी। नदीम को जेल भेज दिया गया है, लेकिन तैमूर के बारे में कोई जानकारी नहीं है। यदि तैमूर का भी कोई संपर्क आतंकियों से निकलता है तो वह दोनों बेटों से संबंध तोड़ लेगा।

यह भी पढें: स्वतंत्रता दिवस पर बड़ी वारदात कर सकता था आतंकी नदीम, सरकारी भवन पर हमले का था इरादा

Edited By: Parveen Vashishta