मुजफ्फरनगर, जेएनएन। केंद्रीय राज्यमंत्री डा. संजीव बालियान ने मुजफ्फरनगर मेडिकल कालेज पहुंचकर कोरोना संक्रमितों से वाकी-टाकी के माध्यम से संवाद किया। संक्रमतों ने कई समस्याएं उन्हें बताई। कुछ मरीजों ने समय पर और पौष्टिक भोजन न मिलने की बात कही, जबकि कुछ मरीजों ने कहा कि डेड बाडी का समय से नहीं उठाया जाता है। इस पर तीन वाहन इसी कार्य के लिए मेडिकल कालेज में तैनात किए गए।

मरीजों ने की शिकायत

केंद्रीय पशुपालन, मत्स्य एवं डेयरी राज्यमंत्री शनिवार को कोविड हास्पिटल पहुंचे। मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. जीएस मंचंदा से बातचीत की। डा. बालियान ने पीपीई किट पहनकर कोरोना संक्रमितों से मिलने की बात कही, लेकिन कालेज प्रशासन ने ऐसा नहीं करने की अपील की। इसके बाद उन्होंने वाकी-टाकी से भर्ती कोरोना संक्रमितों से बातचीत की। केंद्रीय राज्यमंत्री ने बताया कि कई मरीजों की शिकायत थी कि पौष्टिक खाना नहीं दिया जाता है। कई दफा समय से भोजन नहीं मिलता है। कुछ मरीजों ने कहा कि साफ सफाई में कोताही बरती जाती है। मांग की कि स्वजनों से प्रतिदिन बातचीत कराई जाए।

उन्होंने बताया कि जनपद में आक्सीजन की खेप बढ़ाने के लिए 20 हजार लीटर का कैप्सूल मेडिकल कालेज में स्थापित कराया जा रहा है। अभी मेडिकल कालेज में वेंटीलेटर युक्त 150 बेड हैं, जिन्हें जल्द ही बढ़ाकर 200 कर दिया जाएगा। आक्सीजन कैप्सूल स्थापित होने पर 500 बेड हो जाएंगे। इसके साथ ही मेडिकल कालेज में दिन-रात तीन वाहन डेड बाडी के लिए तैनात किए गए हैं। साथ ही तीन दिन के अंतराल पर डा. बालियान खुद मेडिकल कालेज का दौरा करेंगे, ताकि वहां की व्यवस्थाओं के हिसाब से केंद्र सरकार को अवगत कराकर व्यवस्थाएं दुरुस्त कराई जा सके।

 

Edited By: Taruna Tayal