मेरठ,जेएनएन। तीन तलाक के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। रविवार को कोतवाली सर्किल में दो मामले सामने आए, जहां पीड़िताओं ने तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

देहली गेट थाना क्षेत्र निवासी विवाहिता ने बताया कि जून 2020 में उसकी शादी क्षेत्र निवासी युवक से हुई थी। कुछ दिन बाद से ही दहेज के लिए उसे परेशान किया जाने लगा था। कई बार मांग भी पूरी की गई थी। दोबारा से परेशान करने पर पंचायत भी हुई, लेकिन कोई समाधान नहीं निकल पाया। एक सप्ताह पहले रात में पति घर नहीं था। आरोप है कि ससुर और देवर नशे में धुत होकर उसके कमरे में पहुंचे और छेड़छाड़ करने लगे। विरोध करने पर पिटाई कर दी। वह किसी तरह उनसे छूटकर बाहर आई और शोर मचा दिया, जिस पर आसपास के लोग एकत्र हो गए। पति के आने पर शिकायत की तो उसने चुप रहने को कहा। विरोध किया तो तीन तलाक दे दिया। उधर, कोतवाली थाना क्षेत्र निवासी विवाहिता ने बताया कि उसकी शादी लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र निवासी युवक से हुई थी। दहेज के लिए उसे प्रताड़ित करते थे। कई बार मायके वालों ने समझाया, लेकिन कुछ नहीं हुआ। मांग पूरी नहीं होने पर उसे घर से निकाल दिया था। आरोप है कि पिछले माह पति ने तीन तलाक दे दिया। सीओ अरविद चौरसिया ने बताया कि दोनों मामलों में रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा।

वनकर्मी के खिलाफ कारर्रवाई की मांग: शनिवार देर रात कुलंजन गांव निवासी ठेकेदार फुरकान ने वनकर्मी पर फायर झोंकने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी थी। रविवार को पीड़ित एसएसआइ से मिला और वनकर्मी के खिलाफ कार्रवाई की गुहार लगाई। एसएसआइ सुभाष सिंह ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। उसके बाद कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran