मेरठ, जेएनएन। दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे पर टोल वसूली आठ दिसंबर से शुरू हो जाएगी। उससे एक दिन पहले टोल दर व उससे संबंधित नियमों के बारे में अधिसूचना जारी होगी।

इससे संबंधित हैंडओवर की प्रक्रिया गुरुवार को पूरी कर ली गई। गुरुवार को ही टोल वसूली का ट्रायल रन होना था लेकिन कुछ उपकरणों की कमी की वजह से ऐसा नहीं हो सका। अब ट्रायल रन दो दिन बाद होगा। गौरतलब है कि इस एक्सप्रेस वे पर टोल वसूली ऑटोमेटिक नम्बर प्लेट रीडर से जांचने के बाद फास्टैग से होगी।

काशी टोल प्लाजा पहुंचा स्टाफ

टोल वसूली के लिए चयनित कंपनी पाथ लिमिटेड के अधिकारी व कर्मचारी गुरुवार को टोल प्लाजा पहुंच गए। एनएचएआइ के अधिकारी भी पहुंचे। उपकरणों की गिनती के बाद हैंडओवर प्रक्रिया पूरी की गई। कुछ बूथों के पास फास्टैग रीडर नहीं लगा था। वहीं कुछ कुछ अन्य उपकरण भी लगाने बाकी रह गए हैं। दो दिन में उपकरण लगा लिए जाएंगे। तब ट्रायल होगा। 

Edited By: Taruna Tayal