मेरठ, जागरण संवाददाता। राजस्थान के उदयपुर की घटना और जुमे की नमाज को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। शहर और देहात में सेक्टर और जोन व्यवस्था लागू कर दो कंपनी आरएएफ लगा दी गई है। साथ ही अफसर भी सभी संवेदनशील एरिया में मौजूद रहेंगे। उसके अलावा सर्विलांस की टीम लगातार इंटरनेट मीडिया की निगरानी कर रही है।

सभी सेक्टर पर थाना प्रभारी की तैनाती

उदयपुर में मंगलवार को हुई घटना के बाद जनपद में 31 सेक्टर और 14 जोन बना दिए है। सभी सेक्टर पर थाना प्रभारी की तैनाती की गई है, जबकि जोन में सर्किल आफिसर को लगाया गया है। दो कंपनी आरएएफ को मिश्रित आबादी में प्वाइंट चिन्हित कर लगा दिया है। जुमे की नमाज को लेकर मस्जिदों के बाहर भी पुलिस लगा दी है। एसएसपी रोहित सजवाण ने बताया कि कानून व्यवस्था कदापि बिगड़ने नहीं देंगे। अफवाह फैलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इन क्षेत्रों में रहेगी आरएएफ

हापुड़ अडडा, भूमिया पुल, खत्ता रोड, इंदिरा चौक, बुढ़ाना गेट, जाकिर कालोनी, आरटीओ पुल पर आरएएफ लगा दी गई है। उसके अलावा एडीजी, आइजी और एसएसपी पुलिस फोर्स के साथ शहर और देहात में मूवमेंट करेंगे। इंटेलीजेंस और एलआइयू की टीम लगातार सूचनाएं जुटा रही है। इंटेलीजेंस की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है। सभी धर्मगुरुओं से भी बातचीत कर ली गई है। ताकि जुमे की नमाज को लेकर कोई भी अफवाह फैलाकर माहौल न बिगाड़े। 

इन्‍होंने कहा 

उदयपुर की घटना और जुमे की नमाज को लेकर जनपद में अलर्ट घोषित कर दिया है। ड्रोन उड़ाकर संवेदनशील एरिया की निगरानी की जाएगी। सर्विलांस की टीम लगातार फेसबुक और वाटसएप ग्रुप पर नजर बनाए हुए है। इंटरनेट मीडिया के जरिए आपत्तिजनक टिप्पणी करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

रोहित सजवाण, एसएसपी

Edited By: Parveen Vashishta