बुलंदशहर, जेएनएन। आखिर जिसका डर था वही हुआ। मंगलवार देर शाम टिड्डी दल बुलंदशहर जिले में पहुंचने से किसानों व अधिकारियों में हड़कंप मच गया। छतारी ब्लॉक के गांवों से होते हुए टिड्डी दल पहासू, खुर्जा में मंडराते हुए अंधेरा होते ही शिकारपुर पहुंच गया। टिड्डी दल अभी जमीन पर नहीं उतरा। कृषि अधिकारियों के मुताबिक जनपद में रात्रि विश्राम करने पर टिड्डी दल को नष्ट किया जाएगा।

मंगलवार दोपहर अलीगढ़ के गोधा स्टेशन की ओर से टिड्डी दल ने छतारी ब्लॉक के नंगला डड्ढू और नगरिया गांवों के जंगल में प्रवेश किया। किसानों ने कनस्तर और थाली बजाकर इसे जंगल में उतरने से पूर्व ही भगा दिया। इसके बाद टिड्डी दल पहासू क्षेत्र के कई गांवों में होता हुआ खुर्जा पहुंचा। शाम ढलने पर टिड्डी दल शिकारपुर क्षेत्र के गांव पलड़ाझाल और कलाथुरी में जा पहुंचा। उपनिदेशक कृषि आरपी चौधरी, जिला कृषि अधिकारी अश्वनी कुमार और जिला कृषि रक्षा अधिकारी अमरपाल ङ्क्षसह मौके पर पहुंचे और किसानों को एकत्र कर ध्वनिवादक यंत्रों से टिड्डी दल को भगाने का प्रयास किया।

दल को नष्ट करने की तैयारी

आरपी चौधरी ने बताया कि ट्रैक्टर चालित माउंटेन स्प्रे मशीन संचालकों को सूचना दे दी गई है। रात में एक दर्जन स्प्रे मशीनों और फायर ब्रिगेड की गाडिय़ों से टिड्डी दल को नष्ट किया जाएगा। सिकंदराबाद, खुर्जा और बुलंदशहर फायर ब्रिगेड की गाडिय़ों को सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचने के निर्देश दे दिए गए हैं। जैसे ही टिड्डी दल विश्राम के लिए जंगल में उतरेगा तभी उस पर जहरीले रसायन का स्प्रे कराया जाएगा। सैकड़ों किसान भी खेतों में मौजूद हैं और धुआं करने के साथ ही थाली व ड्रम बजा रहे हैं।

चार टीमें गठित

शिकारपुर में माउंटेन स्प्रे मशीन और फायर ब्रिगेड को सूचित कर दिया गया है। ग्राम प्रधानों और निगरानी समिति के सदस्यों को सूचना दे दी गई है। फायर ब्रिगेड को भी मौके पर बुलाया जाएगा। किसानों की फसलों को नुकसान नहीं होने दिया जाएगा।

-आरपी चौधरी, उपनिदेशक कृषि

Posted By: Taruna Tayal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस