मेरठ : तीन अलग-अलग स्थानों पर हुए हादसों में बीईओ की पत्‍‌नी समेत तीन लोग घायल हो गए। जबकि एक घोड़ी की मौत हो गई। तीनों दुर्घटनाएं तेज रफ्तार के कारण हुई हैं।

सरस्वती लोक निवासी पूनम सौलाना गांव के उच्च प्राथमिक विद्यालय में सहायक अध्यापिका हैं। उनके पति सुभाष चंद्र बिजनौर में ब्लाक शिक्षाधिकारी हैं। मंगलवार सुबह वह दिल्ली रोड से होते हुए विद्यालय जा रही थीं। रिठानी में तेज रफ्तार बाइक सवार उनकी कार के सामने आ गया, जिसे बचाने के प्रयास में पूनम ने कार रोकी तो पीछे चल रहे सदर निवासी आशीष शर्मा की कार उनसे टकरा गई। हादसे में पूनम घायल हो गई, जिन्हें आशीष ने सिविल लाइन स्थित अस्पताल में भर्ती कराया।

दूसरा हादसा टीपीनगर थाना क्षेत्र में मेवला फ्लाईओवर पर सुबह करीब छह बजे हुआ। लिसाड़ी गेट निवासी मोनू पुत्र रामपाल की घोड़ी-बुग्गी में कार ने टक्कर मार दी। घोड़ी की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि मोनू गंभीर घायल हो गया। वहीं तीसरा हादसा मोहकमपुर निवासी नीतू पाल बीएसई प्रथम वर्ष की छात्रा है। सुबह नौ बजे वह वीनस गार्डन के सामने टेंपो का इंतजार कर रही थी। गाजियाबाद से भैंसाली रोडवेज डिपो जा रही अनुबंधित बस ने उसे टक्कर मार दी। छात्रा गंभीर घायल हो गई। पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। चालक बस मौके पर छोड़कर फरार हो गया।

चेंबर पर धमकी भरा पत्र चिपकाने पर डाला तस्करा

मेरठ । पूर्व बार एसोसिएशन अध्यक्ष धीरेंद्र तोमर के चेंबर पर धमकी भरा पत्र चिपका हुआ मिलने के मामले में भले ही वरिष्ठ अधिवक्ता ने कोई तहरीर नहीं दी हो, लेकिन पुलिस ने अपनी तरफ से जीडी में तस्करा डाल दिया है। सिविल लाइन इंस्पेक्टर रजनीश तिवारी ने बताया कि अधिवक्ता के केसों से संबंधित कौन आरोपित है। उनकी जांच की जा रही है। वहीं, कितने मामलों में इस साल अधिवक्ता ने सजा कराई है। यह भी देखा जा रहा है। पुलिस का दावा है कि आरोपित को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Posted By: Jagran