मेरठ (संतोष शुक्ल)। सर डान ब्रेडमैन से किसी की तुलना बेमानी है, किंतु आधुनिक युग में विराट कोहली क्रिकेट के बादशाह हैं। उनमें रनों की जबरदस्त भूख है और तेवर बेहद आक्रामक है। ऐसा लगता है कि वह क्रिकेट में रिकार्डो के भी बादशाह बन जाएंगे। उक्त बातें आस्ट्रेलिया के दिग्गज आलराउंडर रहे शेन वाटसन ने मंगलवार को परतापुर स्थित एसजी कंपनी में एक साक्षात्कार के दौरान कहीं। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के तमाम पहलुओं पर बेबाकी से अपनी राय रखी। हालांकि बॉल टेंप¨रग जैसे मुद्दे पर चुप्पी साधे रखी। पेश है बातचीत के प्रमुख अंश- सवाल: टी-20 क्रिकेट से रनों का अंबार खड़ा होने लगा है। क्या क्रिकेट बल्लेबाजों के पक्ष में झुकती जा रही है। इसका टेस्ट क्रिकेट पर क्या असर देखते हैं?

जवाब: टी-20 ने क्रिकेट को और मनोरंजक बनाया है। इसके चलते क्रिकेट से जुड़ने वालों की तादाद में भारी इजाफा हुआ है। दर्शक भी ताबड़तोड़ रन बनते देखना चाहते हैं। इसी वजह से बल्लेबाज हावी नजर आते हैं। किंतु टेस्ट क्रिकेट का अपना आकर्षण है, जो बरकरार रहेगा। फटाफट क्रिकेट की वजह से टेस्ट में भी तेजी से रन बनने लगे हैं, जिसे दर्शक पसंद करते हैं। आज भी महान क्रिकेटरों का आकलन टेस्ट क्रिकेट के प्रदर्शन के आधार पर ही किया जाता है। सवाल: आज की क्रिकेट में रिचर्ड हेडली, शेन वार्न और और वसीम अकरम जैसे गेंदबाज क्यों नजर नहीं आते?

जवाब: ये बिल्कुल सही बात है। आज गेंदबाज को क्वालिटी से ज्यादा रन रोकने पर फोकस करना पड़ता है। हेडली, वसीम के जमाने में लंबे स्पेल वाली क्रिकेट थी, किंतु अब बॉलर को इतनी गेंद नहीं मिलतीं। इस वजह से गेंदबाजों की गुणवत्ता खत्म हो रही है। तेज गेंदबाज ज्यादा क्रिकेट खेलने की वजह से फिटनेस गंवा रहे हैं। कई ने शुद्ध तेज गेंदबाज के रूप में डेब्यू किया लेकिन बाद में मध्यम तेज गेंदबाज बनकर बेअसर हो गए। नई जनरेशन ज्यादातर बल्लेबाजी में दिलचस्पी दिखा रही है। सवाल: अस्सी के दशक में बॉथम, कपिल, इमरान व हेडली के रूप में चार महान आलराउंडर खेले। इनमें आप किसे सर्वश्रेष्ठ मानते हैं?

जवाब: मैं दक्षिण अफ्रीका के जैक कालिस को महानतम आलराउंडर मानता हूं। वह शुद्ध गेंदबाज के रूप में भी किसी टीम से खेल सकते थे। उनका रिकार्ड शानदार है। इमरान खान भी बेहद आकर्षक आलराउंडर रहे हैं। इयान बाथम और कपिल देव तकरीबन एक नेचर के आलराउंडर थे, जो ज्यादा प्रतिभाशाली थे। सवाल: मेरठ के निवासी भुवनेश्वर कुमार को एक गेंदबाज के रूप में कैसा आंकते हैं?

जवाब: भुवी बेहद प्रतिभाशाली तेज गेंदबाज हैं। वह गेंद को दोनों तरफ स्विंग कराने में महारत रखते हैं। हाल में उन्होंने अपनी स्पीड बढ़ाने से वह और घातक हो गए हैं। उनका एक्शन बेहतरीन और एप्रोच अच्छा है। अगर अंतिम ओवरों-स्लॉग ओवर में गेंदों पर नियंत्रण साध लें तो वर्तमान क्रिकेट में वह सबसे शानदार गेंदबाज हैं। सवाल: क्या आप मानते हैं कि विराट कोहली भविष्य में डान ब्रेडमैन, सचिन तेंदुलकर, सोबर्स और रिचर्ड जैसे महान बल्लेबालों का रिकार्ड तोड़ देंगे?

जवाब: विराट में रनों की जो भूख है, वो मैंने आज तक किसी क्रिकेटर में नहीं देखी। तकनीकी रूप से दक्ष होने के साथ ही विराट मानसिक रूप से भी बेहद मजबूत बल्लेबाज हैं। उनकी आक्रामकता कप्तानी को भी नई ताकत देती है। विराट क्रिकेट की शान और आधुनिक क्रिकेट के बादशाह हैं। संभव है कि वह शतक समेत तमाम रिकार्ड तोड़ देंगे। हालांकि ब्रेडमैन का रिकार्ड टूटने के लिए बना ही नहीं है। सवाल: आपने मेरठ में एसजी कंपनी का विजिट किया। गेंद और बल्ला बनने की पूरी प्रक्रिया देखी, कैसा अनुभव रहा?

जवाब: ये अनुभव वाकई हैरतअंगेज रहा। एक बल्ला क्रिकेटर के हाथ में पहुंचने से पहले किन अवस्थाओं से गुजरता है। गेंद की सिलाई से लेकर पैकिंग तक की प्रक्रिया बारीकी से देखी। खासकर, ज्यादातर काम हाथ से किए जा रहे हैं। फिर भी ऐसा हुनर कि सभी उत्पाद एक से बढ़कर एक। मैं वाकई गदगद हूं। सवाल: आस्ट्रेलिया की टीम ने दशकों तक क्रिकेट पर राज किया है। किंतु गत दिनों एशेज श्रृंखला हारने से लेकर तमाम स्पर्धाओं में क्रिकेटरों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा। क्या कारण मानते हैं?

जवाब: अस्ट्रेलियाई टीम के पास प्रतिभाओं की अचानक कमी हो गई है। पहले तमाम ऐसे क्रिकेटरों को इलेवन में जगह नहीं मिल पाती थी, जो अन्य देश में किसी भी स्तर का क्रिकेट खेल सकते थे। इस मामले में भारतीय टीम भाग्यशाली है, जहां कई बड़े खिलाड़ी कतार में हैं। हालांकि, आस्ट्रेलियाई टीम कई बार ऐसे दौर से उबरी है, किंतु युवाओं में क्रिकेट के प्रति रुझान कम हुआ तो संभलना मुश्किल होगा। सवाल: क्या आने ऑल टाइम प्लेइंग इलेवन बनाई है? उसे साझा करना चाहेंगे?

जवाब: नहीं, नहीं मैंने इस पर कभी गंभीरता से नहीं सोचा। हां, अगर कभी बना तो पहला नाम शेन वार्न का होगा। गेंदबाजी की कमान मैकग्राथ और वसीम को सौंपना चाहूंगा।

Posted By: Jagran