मेरठ, जेएनएन। मेरठ कालेज की एसोसिएट प्रोफेसर डा. सीमा शर्मा के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई तय मानी जा रही है। हिमाचल प्रदेश के इंदौरा में डा. सीमा शर्मा को रिश्वत लेते हुए विजिलेंस की टीम ने पकड़ा था। इन्हें पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है।

डा. सीमा शर्मा मेरठ कालेज के शिक्षा विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर हैं। साथ ही इग्नू की कोआर्डिनेटर भी रहीं हैं। राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) की ओर से उन्हें इंदौरा के क्षत्रिय कालेज में निरीक्षण के लिए भेजा गया था। वहां वह कुछ अन्य शिक्षकों के साथ रिश्वत लेते पकड़ी गईं थीं। इनके पास से कैश भी बरामद हुआ है। सोमवार को उनके खिलाफ दर्ज की गई एफआइआर की कापी मेरठ कालेज को ई-मेल से प्राप्त हो गई है। मंगलवार को अब उनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई संभव है।

मेरठ कालेज प्रबंध समिति के अध्यक्ष सुरेश जैन रितुराज ने बताया कि 48 घंटे से अधिक पुलिस रिमांड पर रहने के कारण नियमानुसार निलंबन की कार्रवाई होती है। मंगलवार को प्राचार्य के साथ बैठक करके इस पर निर्णय लिया जाएगा।

संघ से बातचीत के बाद पंजाबी संगठन ने स्थगित की प्रेसवार्ता

मेरठ: मान मनौवल के बाद संयुक्त पंजाबी संगठन ने सोमवार को प्रस्तावित प्रेस वार्ता स्थगित कर दी। भाजपा द्वारा मेरठ की तीन सीटों में एक भी टिकट पंजाबी समाज के प्रत्याशी को न देने से नाराजगी व्याप्त है। इसी संबंध में पंजाबी संघ द्वारा प्रेसवार्ता आयोजित की गई थी। माना जा रहा था कि पंजाबी संघ अपने समाज की अनदेखी पर भाजपा के विरोध में किसी अभियान की घोषणा कर सकता है, लेकिन इसके पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पदाधिकारी के आवास पर संयुक्त पंजाबी संघ के संस्थापक सदस्यों की बैठक हुई। तिलक नारंग और विक्की तनेजा ने बताया कि भाजपा के सह संगठन महामंत्री कर्मवीर से फोन पर वार्ता हुई। उन्होंने मेरठ आकर पदाधिकारियों से मिलने का आश्वासन दिया है। मीडिया प्रभारी विकास गिरधर ने बताया कि 19 जनवरी को वार्ता के बाद पंजाबी संघ की बैठक होगी। इस अवसर पर पवन सोंधी, मनोज बाटला, अमित चांदना आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran