मेरठ, जेएनएन। गढ़ रोड स्थित न्यूटिमा अस्पताल के आपरेशन थिएटर में ओटी टेक्नीशियन ने नशीला इंजेक्शन लगाकर जान दे दी। परिवार के लोगों ने अस्पताल प्रबंधन तंत्र पर हत्या का आरोप लगाकर गेट पर हंगामा किया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर परिवार के लोगों को समझाकर शांत किया। साथ ही ओटी से शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मौत की वजह मंगेतर से विवाद माना जा रहा है। दरअसल, टेक्नीशियन ने मंगेतर को रात में 30 काल की है। हालांकि पुलिस मौत के स्पष्ट कारण तलाश रही है। 

यह भी पढ़ें: टेक्नीशियन के मौत की गुत्‍थी उलझी, आखिर उसे कैसे मिली वेकुरोनियम ब्रोमाइड इंजेक्शन? Meerut News

मूलरूप से बिजनौर के शेरकोट थाने के कांदला गांव निवासी फतेह सिंह सैनी पुत्र परशुराम सैनी भावनपुर के गैसूपुर में रहता था। पिछले दस सालों से ओटी टेक्नीशियन का काम कर रहा था। चौरसिया अस्पताल से एक साल पहले न्यूटिमा में भी बतौर ओटी टेक्नीशियन के पद ही नौकरी ज्वाइनिंग की थी। रोजाना की तरह गुरुवार की रात आठ बजे फतेह सिंह सैनी आपरेशन थिएटर में अपने साथी विशाल और आसिफ के साथ ड्यूटी पर था। रात को करीब ढाई बजे फतेह सिंह ने विशाल और आसिफ को कहा कि ओटी में बैठकर मोबाइल पर बात करेगा। उसके बाद ओटी के अंदर चला गया। उसके जाने के बाद विशाल और आसिफ सो गए।

सुबह सात बजे दोनों ने उठकर देखा की ओटी के अंदर फतेह सिंह जमीन पर पड़ा है। उसके पास एक नशीला इंजेक्शन और सिरिंज भी पड़ी थी। अस्पताल के डाक्टर संदीप गर्ग ने बताया कि फतेह सिंह ने नशीले इंजेक्शन की ओवरडोज ले ली थी, जिसके चलते उसकी मौत हो गई। उन्होंने बताया कि फतेह सिंह का अपनी मंगेतर के साथ विवाद चल रहा था। उसके मोबाइल से पता चला कि रात में ही 30 काल कर चुका है। ऐसे में मंगेतर से विवाद के चलते फतेह सिंह ने सुसाइड किया है, जबकि फतेह सिंह के भाई गज्जू प्रकाश का कहना है कि उसके भाई की हत्या की गई है। ओटी से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। प्रबंधन तंत्र ने परिवार के लोगों को ओटी तक जाने नहीं दिया है, जिस पर परिवार के लोगों ने अस्पताल के गेट पर हंगामा कर दिया। बाद में पुलिस ने परिवार के लोगों को समझाकर शांत किया।

यह भी पढ़ें: Badan Singh Baddo: मोस्‍ट वांटेड़ की कोठी तो गिरा दी, पर मलवे को लेकर फंसा पेंच, अफसर झाड़ रहे पल्‍ला

फोरेंसिंक टीम ने की ओटी की जांच : ओटी में फतेह सिंह का शव पड़े होने पर मामले की जानकारी अस्पताल प्रबंधन तंत्र ने पुलिस को दी। तभी इंस्पेक्टर प्रमोद गौतम फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। साथ ही फोरेंसिंक टीम को भी बुलाकर जांच कराई गई। पुलिस ने मौके से इंजेक्शन के खाली रेपर और सिरिंज को कब्जे में ले लिया। साथ ही पंचनामा भरकर शव को भी पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इंस्पेक्टर का कहना है कि ओटी में अस्पताल प्रबंधन तंत्र ने कैमरे नहीं होने की बात कही है, जबकि परिवार के लोगों का कहना है कि ओटी में कैमरे लगे है, जिनकी डीवीआर को पुलिस अपने साथ ले गई है। 

एसएसपी अजय साहनी ने कहा कि न्यूटीमा अस्पताल की ओटी में टेक्नीशियन का शव मिला है। नशीली ओवरडोज लेने से उसकी मौत होने की बात सामने आ रही है। पुलिस ने पीडि़त पक्ष से मामले की तहरीर ले ली है। पुलिस काल डिटेल और अन्य तथ्यों के आधार पर पुलिस मामले की जांच कर रही है।  

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021