बुलंदशहर, जागरण संवाददाता। राज्य कर विभाग की एसआइबी (विशेष अनुसंधान शाखा) की टीम ने सिकंदराबाद की पेस्टीसाइड फर्म पर छापामारी कर 39 लाख की कर चोरी पकड़ी है। इसमें लाखों के इनपुट टैक्स क्रेडिट (आइटीसी) का गलत दावा और लाखों की फर्जी बिलिंग पर कर एवं जुर्माना शामिल रहा है, जिसे मौके पर जमा कराया गया। टीम ने रिकार्ड जब्त कर जांच शुरू कर दी है।

कर चोरी की शिकायत पर हुई कार्रवाई 

सिकंदराबाद स्थित सीबा क्राप साइंस पेस्टीसाइड फर्म पर कर चोरी की शिकायत पर नोएडा जोन ग्रेड प्रथम की अपर आयुक्त अदिति सिंह ने कार्रवाई के निर्देश दिए। इस पर जिले की संयुक्त आयुक्त कार्यपालक एवं प्रभारी एसआइबी विभा पांडेय के नेतृत्व में टीम गठित की गई। इसमें शामिल उपायुक्त राम प्रकाश गुप्ता, सहायक आयुक्त प्रदीप कुमार, वाणिज्य कर अधिकारी भूपलाल ने जाल बिछाया। फर्म से हो रही फर्जी खरीद-फरोख्त की जानकारी एकत्रित की। फिर फर्म पर छापामारी की। रिकार्ड चेक किए तो 31 लाख की आइटीसी का दावा गलत मिला। इसका कोई रिकार्ड नहीं मिला। 

जांच में 23 लाख का अघोषित माल मिला

आइटीसी के गलत दावा करके की जा रही कर चोरी की यह रकम मौके पर जमा कराई गई। साथ ही जांच में 23 लाख का अघोषित माल भी मिला। इस माल के दस्तावेज दिखाने में फर्म संचालक नाकाम रहे। जिस पर चार लाख कर एवं चार लाख जुर्माना लगाकर वसूला गया। इस प्रकार कुल 39 लाख की कर चोरी के मामले पर कार्रवाई कर यह रकम मौके पर ही जमा कराई गई।

इन्होंने कहा...

सिकंदराबाद की पेस्टीसाइड फर्म के यहां छापामारी की गई। 31 लाख के आइटीसी का गलत दावा मिला। 23 लाख के अघोषित माल पर आठ लाख कर एवं चार लाख जुर्माना लगाया गया। मौके पर 39 लाख की रकम जमा कराई गई। रिकार्ड जब्त कर आगे जांच की जा रही है।

- विभा पांडेय, संयुक्त आयुक्त कार्यपालक एवं प्रभारी एसआइबी, राज्य कर विभाग

Edited By: Parveen Vashishta