जागरण संवाददाता, सरधना : कई मैराथन और अल्ट्रा मैराथन में रिकार्ड बनाने वाले नगर के मोहल्ला इस्लामाबाद निवासी सरफराजुर्रहमान के हुनर को अब फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह तराशेंगे। मिल्खा सिंह ने उनका ट्रेनिंग शेड्यूल निर्धारित किया है। रोजाना ट्रेनर मानसी शर्मा के निर्देशन में उनकी प्रैक्टिस जारी है। मानसी शर्मा का कहना है कि वह काफी मेहनती और लगनशील है। मिल्खा सिंह अभी पुणे में हैं। जल्द ही वह चंडीगढ़ आकर सरफराजुर्रहमान से मुलाकात करेंगे।

अगले वर्ष होने वाले ओलंपिक ट्रायल के लिए कड़ी मेहनत

सरंफराजुर्रहमान का सपना देश के लिए ओलंपिक पदक जीतना है। जिसके लिए वह वर्षों से कड़ी मेहनत कर रहे हैं। इसके अलावा वह इसी वर्ष चंडीगढ़ में होने वाली इंडिया मैराथन और 7 अप्रैल को होने वाली इरविंग मैराथन के लिए भी तैयारी कर रहे हैं। कारगिल की दुर्गम पहाड़ियों पर भारत समेत चीन, बांग्लादेश, श्रीलंका, पाकिस्तान आदि देशों के 800 धावकों को पछाड़ते हुए 120 किमी की मैराथन सरफरार्जुहरमान ने महज 16 घंटे में पूरी कर स्वर्ण पदक जीता था।

ये उपलब्धियां की अपने नाम

वर्ष 2012 में मुंबई में हुई 21 किमी की मैराथन में सरफराजुर्रहमान ने गोल्ड मेडल जीता था। इसके बाद 2013 में 42 किमी की मैराथन में भी सोना अपने नाम किया। इसी वर्ष कन्याकुमारी मैराथन में दौड़ के दौरान घायल होने पर भी 8वां स्थान प्राप्त किया। 2015 में पुणे में 21 किमी मैराथन में वह गोल्ड मेडल जीत चुके है। हाल ही में कारगिल में 120 किमी की अल्ट्रा मैराथन 16 घंटे में पूरी कर गोल्ड जीता। इसके अलावा राज्य स्तरीय दौड़ों में जीत का अंबार लगा चुके है।

प्रैक्टिस में तोड़ा भारतीय का ओलंपिक रिकार्ड

सरफराजुर्रहमान का दावा है कि वह प्रैक्टिस के दौरान 42 किमी दौड़ में भारतीय खिलाड़ी का बना ओलंपिक रिकार्ड तोड़ चुके हैं। जो राम सिंह यादव के नाम दो घंटे 16 मिनट है। जबकि वह यह दूरी महज दो घंटे पांच मिनट में तय कर चुके है। अब उनका सपना देश के लिए ओलंपिक पदक जीतना है। उनका दावा है कि ओलंपिक क्वालीफाइंग मार्क वह आसानी से पार कर लेंगे।

फोटो परिचय

- चंडीगढ़ में ट्रेनर मानसी शर्मा के साथ सरफराजुर्रहमान।

-ं चंडीगढ़ में प्रैक्टिस करते हुए सरफराजुर्रहमान।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप