मेरठ, जेएनएन। टोल प्लाजा पर तीन फरवरी की देर शाम हुई किसान सोहनवीर की मौत के प्रकरण में शनिवार को दुल्हैड़ा गाव में सपा नेता अतुल प्रधान के नेतृत्व में पंचायत की गई। जिसमें कई गाव के ग्रामीण शामिल हुए। ग्रामीण और मृतक के परिजनों ने संयुक्त रुप से माग की कि सोहनवीर की हत्या की गई है। दौराला ने जो जाच कर रही है, वह उससे संतुष्ट नहीं है। माग उठाई गई कि हत्याकाड़ में सीबीआइ जाच होनी चाहिए।

दुल्हैड़ा गाव निवासी सोहनवीर उर्फ सोनू पुत्र रमेश चंद तीन फरवरी की देर शाम ट्रैक्टर-ट्रॉली में गन्ने भरकर दौराला मिल को लेकर जा रहा था। टोल प्लाजा के पास पहुंचते ही सोहनवीर की एकाएक मौत हो गई। खून से सना शव सड़क पर पड़ा था, जबकि ट्रैक्टर-ट्रॉली सड़क पार बिजली के खंभे से टकराई। मृतक के परिजनों और ग्रामीणों ने हत्या करार देते हुए टोल कर्मचारी और अधिकारियों पर केस दर्ज कराया। पुलिस ने दो आरोपित सुरक्षाकर्मी चित्रपाल और अजय पाल को गिरफ्तार कर जेल भेजा। इसी प्रकरण में शनिवार को दुल्हैड़ा गाव में सपा नेता अतुल प्रधान के नेतृत्व में पंचायत हुई, जिसमें ग्रामीणों ने दौराला पुलिस और स्थानीय भाजपा नेताओं पर टोल प्लाजा से मिलीभगत का आरोप लगाया। पंचायत में फैसला लिया गया कि सोमवार की दोपहर 12 बजे तक प्रशासनिक अफसर दुल्हैड़ा में पीड़ित परिवार से मिलकर न्याय दिलाने का आश्वासन नहीं देंगे तो मंगलवार को सैंकड़ों ग्रामीण कप्तान ऑफिस का घेराव कर अनिश्चित काल के लिए आमरण अनशन शुरू करेंगे। सपा नेता ने मृतक के बच्चे सोम और परीषा को गोद में लेकर दुलार किया और पीड़ित परिवार को हर संभव मदद का आश्वासन दिया। पंचायत में भाकियू जिलाध्यक्ष संदीप मलिक, प्रेमपाल सिंह, भारखंडे शर्मा, मुकुट चौहान, रघुवीर सिंह, बलेश्वर, विनीत, रघुवीर, सुरेंद्र, मीनाक्षी चौहान आदि मौजूद थे। -पीड़ित परिवार को मिले 50 लाख का मुआवजा

सपा नेता और ग्रामीणों ने माग की कि पीड़ित परिवार को मुआवजा राशि में 50 लाख रुपये मिलने चाहिए। मृतक के दो छोटे बच्चे हैं, ऐसे में उनका पालन किस तरह से होगा। घटना के बाद से दौराला इंस्पेक्टर तो दूर, एक सिपाही ने भी पीड़ित परिवार से मिलकर उनकी सुध नहीं ली। -आखिर फुटेज कहा गई, पुलिस बताएं..

मृतक का भाई नवीन, सचिन और रविंद्र समेत उनके पिता रमेश चंद का कहना है कि टोल प्लाजा के सीसीटीवी कैमरे आधा किमी से दूर तक का सीन कैद करते हैं। ऐसे में घटनास्थल की फुटेज भी गायब है। घटनास्थल की घटना के समय की फुटेज दिखा दें तो हम संतुष्ट हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि निर्दोष पकड़ा न जाएं, दोषी बचके न जाने पाए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस