अभिषेक कौशिक, मेरठ। Sotiganj of Meerut नगर निगम के दस्तावेजों में फिर से सोतीगंज का रिकार्ड दर्ज होगा। करीब चार दशक पहले तक का तो रिकार्ड है, लेकिन बाद में दर्ज होना बंद हो गया था। यह तथ्य पुलिस की जांच में सामने आया है। इसके चलते ही एएसपी ने नगर निगम को पत्र लिखकर फिर से रिकार्ड दर्ज करने के लिए कहा है। साथ ही पुलिस सोतीगंज की हर दुकान-घर का भी सर्वे कर रही है।

खरीद-बिक्री का कोई ठोस रिकार्ड नहीं

सोतीगंज ऐसा बाजार है, जहां जीएसटी के रिकार्ड रखने का कोई अनुपालन नहीं होता। पुलिस ने जब कार्रवाई शुरू की तो टैक्स विभाग को भी कार्रवाई के लिए कहा। अफसरों ने 275 दुकानदारों से जवाब मांगा तो उनके पास खरीद-बिक्री का कोई ठोस रिकार्ड नहीं मिला। इस संबंध में पुलिस ने भी 168 कबाडिय़ों की फाइल भेजी, जिनके पास जीएसटी का कोई ब्यौरा नहीं था। बड़े कबाडिय़ों पर कार्रवाई के लिए जब बारीकी से जांच शुरू की गई तो पता चला कि कई जिस दुकान में वह काम करते हैं, वह किसी और के नाम है। इस बीच भी एक-दो व्यक्ति खरीद-फरोख्त कर चुके हैं।

खंगाली कबाड़ियों की कुंडली

इस तरह के कई मामले पुलिस के सामने आए तो नगर निगम से संपर्क किया गया। पता चला कि 1980-82 तक का तो रिकार्ड है, लेकिन उसके बाद इस ओर ध्यान नहीं दिया गया। धीरे-धीरे सोतीगंज की ओर से आंखें ही मूंद ली गई। एएसपी सूरज राय ने बताया कि उन्होंने कुछ बड़े कबाडिय़ों की कुंडली खंगाली थी, तब ऐसी जानकारी सामने आई थी। आपराधिक मामला बनने के बाद कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही थी। इसके चलते नगर निगम को फिर से अपने दस्तावेजों में दुकानों को दर्ज करने के लिए पत्र लिखा गया है।

हर घर-दुकान का सर्वे होगा

एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि सोतीगंज की सफाई की कार्रवाई चल रही है। पुलिस जांच के दौरान यह भी पता चला कि नाम-पते तस्दीक नहीं हो पाते हैं। इसके चलते ही पुलिस टीम लगाकर हर दुकान और घर का सर्वे कराया गया है। सब कुछ दस्तावेजों में दर्ज होने के बाद कार्रवाई में भी आसानी होगी। साथ ही दुकानों पर रखे रजिस्टर को भी लगातार चेक किया जा रहा है। पुलिस के एक्शन का असर भी दिखाई दे रहा है। काफी हद तक सोतीगंज में काम बंद भी हुआ है।

सोतीगंज पर कार्रवाई एक नजर में

2500 मुकदमे सोतीगंज के कबाडिय़ों और चोरों पर दर्ज

321 मुकदमों की विवेचना जनपद के विभिन्न थानों में

37 कबाड़ी गैंगस्टर के तीन मुकदमों में आरोपित

05 कबाडिय़ों की एक अरब से ज्यादा की संपत्ति जब्त

400 वाहनों के इंजन पकड़े जा चुके 

Edited By: Prem Dutt Bhatt