जागरण संवाददाता, मोदीपुरम (मेरठ)। एक प्रशासनिक अधिकारी के गनर में तैनात सिपाही संग उसकी महिला मित्र को पत्नी ने घर में रंगेहाथ पकड़ लिया। पत्नी ने अपने मायके वालों संग सिपाही और महिला मित्र को पीटा। कंकरखेड़ा पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले गई। कंकरखेड़ा की एक कालोनी निवासी पुलिस का सिपाही एक प्रशासनिक अधिकारी के गनर की ड्यूटी में तैनात है। पुलिस के मुताबिक, सिपाही की पत्नी करीब दस दिन पूर्व अपने छह वर्षीय बेटे के साथ नोयडा स्थित मायके में गई हुई थी।

सोमवार रात में सिपाही अपनी महिला मित्र को अपने घर ले गया। इस दौरान पड़ोसी व्यक्ति अपने घर के कमरे में बैठकर खाना खा रहा था। उसने अपने मकान के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में सिपाही संग अंजान महिला को घर में जाते हुए देख लिया। व्यक्ति ने इस बारे में अपनी पत्नी को बताया, जिसके बाद सिपाही की पत्नी को फोन कर मामले की जानकारी दी गई। सोमवार रात करीब एक बजे सिपाही की पत्नी मायके वालों संग घर पहुंच गई, जब सिपाही ने गेट खोला तो पत्नी को देख उसके होश उड़ गए। अंदर महिला मित्र भी थी। जिसके बाद पत्नी ने मायके वालों संग मिलकर पति और महिला मित्र को पीटा। थाना पुलिस मौके पर पहुंची और सिपाही, महिला मित्र समेत पत्नी को थाने ले गई। इंस्पेक्टर का कहना है सिपाही के खिलाफ विभागीय जांच सीओ दौराला कर रहे हैं। उसके बाद ही आगे की कार्रवाई होगी।

पति और बेटे को छोड़कर होटल में प्रेमी संग मिली विवाहिता

कंकरखेड़ा क्षेत्र निवासी विवाहिता प्रेमी संग भैंसाली बस स्टैंड के पास छह दिन से होटल में रह रही थी। कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र निवासी युवक ने पत्नी के अपहरण की तहरीर दी थी। पुलिस ने महिला के मोबाइल की लोकेशन के आधार पर उसे ढूंढ लिया। महिला ने पति के संग जाने से इन्कार कर दिया। पति ने शर्त रखी कि वह बच्चे को अपने पास ही रखेगा। इसके बाद महिला अपने प्रेमी के साथ और पति अपने बच्चे को लेकर थाने से चले गए। इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर ने बताया कि महिला बालिग है और प्रेमी के साथ रहने की जिद कर रही थी। इसलिए पुलिस को उसे रोकने का कोई अधिकार नहीं था। 

Edited By: Himanshu Dwivedi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट