सहारनपुर, जागरण संवाददाता। शनिवार को निकाली गई तिरंगा यात्रा का वीडियो वायरल होने से खलबली मच गई। वीडियो में कुछ बच्चे पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगा रहे हैं। इस मामले में पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है, जबकि स्कूल ने छह छात्रों को 15 दिन के लिए निलंबित कर दिया है।

गंगोह नगर के स्कूलों ने निकाली थी  सामूहिक तिरंगा रैली 

आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान गंगोह नगर के स्कूलों ने सामूहिक तौर से तिरंगा रैली निकाली थी। रैली समाप्त होने के बाद सीबीएसई बोर्ड से संबद्ध एक स्कूल के छात्र नारे लगाते हुए वापस जा रहे थे। दोपहर बाद एक वीडियो वायरल हो गया। स्कूल प्रबंधन को जानकारी मिलने के बाद कक्षा 12 के चार और कक्षा 11 के दो छात्रों को 15 दिन के लिए निलंबित कर दिया गया है। 

तीन वर्ष तक की हो सकती है सजा 

गंगोह कोतवाली प्रभारी जसबीर सिंह ने बताया कि छह छात्रों के खिलाफ आइपीसी की धारा 153बी के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। राष्ट्रीय अखंडता पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाले लांछन आदि जैसे आरोपों में यह धारा लगाई जाती है। इसमें तीन वर्ष तक की सजा का प्राविधान है।

मंगेतर पर दुष्कर्म के बाद बेटी की हत्या करने का आरोप

सहारनपुर, जागरण संवाददाता। देवबंद में एक व्यक्ति ने बेटी के मंगेतर पर उसकी पुत्री के साथ दुष्कर्म करने के बाद जहरीला पदार्थ खिलाकर उसकी हत्या करने का आरोप लगाया है। 

यह है मामला 

शनिवार को कोतवाली पहुंचे व्यक्ति ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि उसकी 21 साल की बेटी की शादी नकुड़ निवासी युवक के साथ तय हुई थी। दो माह बाद दोनों का विवाह होना था। आरोप है कि गत छह अगस्त को मंगेतर बेटी को घर में अकेली पाकर उसे बहला फुसलाकर अपने साथ ले गया। इस बात का पता चलने पर जब वह बेटी के मंगेतर के घर पहुंचा तो उसकी बेटी को बीमार बताते हुए उसका इलाज हास्पिटल में होने की बात कही गई। जब वह अस्पताल पहुंचा तो बेटी ने बताया कि मंगेतर ने उसके साथ दुष्कर्म कर उसे जहरीला पदार्थ खिला दिया है। इलाज के दौरान अगले दिन बेटी की मौत हो गई और गुपचुप तरीके से उसका अंतिम संस्कार कर दिया। इस संबंध में कोतवाली प्रभारी प्रभाकर कैंतुरा का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। जांच की जा रही है। दोषी पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

Edited By: Parveen Vashishta