जागरण संवाददाता, मेरठ। सिंगापुर की कंपनी मीनहर्डट मेरठ, हस्तिनापुर व सरधना में विकास कार्य के लिए प्रस्ताव तैयार करेगी। बुधवार को फाइनेंशियल बिड के आकलन व सभी राउंड में अंकों को जोड़ने के बाद इस कंपनी का चयन किया गया। बहरहाल, एमडीए ने चयनित कंपनी को खर्च कम करने को कहा है। ऐसे में जब दोनों के बीच सहमति बन जाएगी, तब वर्क आर्डर जारी किया जाएगा।

कंपनी ने मांगे तीन करोड़, एमडीए ने कहा-कम करो: चयनित कंपनी ने करीब तीन करोड़ रुपये में सिटी डेवलपमेंट प्लान तैयार करने का प्रस्ताव दिया है। वैसे तो यह कंपनी चयनित हो गई है, मगर एमडीए ने इस धनराशि को कम करने के लिए कंपनी को कहा है। कंपनी के प्रतिनिधियों ने मुख्यालय से इस संबंध में वार्ता करने के लिए वक्त मांगा है। अब जब कंपनी व एमडीए के बीच धनराशि को लेकर सहमति बन जाएगी तब कंपनी को वर्क आर्डर जारी होगा। जिसके बाद कंपनी कार्य शुरू करेगी।

किस तरह के विकास प्रस्ताव तैयार करेगी कंपनी: कंपनी को 25 सप्ताह में प्लान तैयार करके एमडीए को सौंपना है। प्लान ऐसा बनेगा ताकि औद्योगिक व पर्यटन के क्षेत्र में निवेश बढ़े। शहर को आकर्षक कैसे बनाया जाए। सरधना व हस्तिनापुर में धार्मिक पर्यटन को बढ़ाने के लिए क्या किया जाए। ट्रैफिक में क्या सुधार हो। जल निकासी, सड़क की व्यवस्था, यातायात, बाजार की उपलब्धता, एक्सप्रेस-वे, हाईवे, रैपिड रेल व आइटी पार्क का शहर के लिए अधिक से अधिक उपयोग कैसे किया जाए, ताकि रोजगार व विकास बढ़े। जिले के परंपरागत उद्योग को और ज्यादा लाभ की स्थिति में पहुंचाने के लिए क्या कदम उठाए जाएं। इन सब पर प्रस्ताव तैयार होगा। कंपनी के प्रतिनिधि मेरठ में रहकर सभी विभागों से संपर्क करेंगे। उनसे डाटा लेंगे। उनके सकारात्मक पक्ष व कमियों को देखेंगे।

विभाग की वित्तीय स्थिति व आय के स्नोत का आकलन करेंगी। इसके बाद प्रत्येक विभाग के लिए अलग-अलग प्रस्ताव तैयार करेंगी। इस पूरे प्रस्ताव पर एमडीए में मुहर लगने के बाद उसे शासन को भेजा जाएगा। विभागवार तैयार किए गए प्रस्ताव पर कार्य करने के लिए शासन या तो उन विभागों को धनराशि देगा या फिर पूरे कार्य के लिए किसी कार्यदायी कंपनी का चयन होगा।

पांच कंपनियों ने भाग लिया था, दो फाइनेंशियल बिड तक पहुंचीं

सिटी डेवपलपमेंट प्लान तैयार करने के लिए कुल पांच कंपनियों ने प्रतिभाग किया था। इसके लिए 19 जुलाई को प्रेजेंटेशन हुआ था। कनाडा की ली एसोसिएट्स एंड साउथ एशिया प्राइवेट लिमिटेड, सिंगापुर की मीनहर्डट,डीडीएफ कंसल्टेंट, रुद्राभिषेक यानी आरईपीएल व भारत सरकार की कंपनी वाप्कोस शामिल हैं। इनमें से फाइनेंशियल बिड के मुकाबले में मीनहर्डट व ली एसोसिएट्स एंड साउथ एशिया प्राइवेट लिमिटेड ही पहुंचीं थी। अनुभव, स्टाफ की योग्यता, काम की समझ आदि के अंक जोड़े गए। यह देखा गया कि सबसे कम खर्च में कौन सी कंपनी बेहतर प्लान तैयार करेगी।

चयनित कंपनी विश्वस्तरीय प्रोजेक्ट में रही है शामिल

मीन हर्डट कंपनी ने कतर में हमाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट का आर्कटेक्टचर डिजाइन किया था। स्टेचू आफ यूनिटी में सिविल कार्य था। विजयवाड़ा एयरपोर्ट, दिल्ली व मुंबई के एयरपोर्ट का आधुनिकीकरण की योजना बनाई थी। दिल्ली के एयरो सिटी का प्राथमिक डिजाइन भी इसी ने तैयार किया है। 

Edited By: Himanshu Dwivedi