मेरठ। गर्मी की लंबी छुट्टियों के बाद शनिवार को कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चों के लिए स्कूल खुल गए। इसके साथ ही स्कूलों में छोटे बच्चों की चहलकदमी बढ़ गई हैं। लंबी छुट्टी के बाद स्कूल पहुंचे बच्चों के लिए स्कूल का पहला दिन काफी रोमांचक करने वाला रहा। आम तौर पर एक जुलाई को ही बच्चे स्कूल पहुंच जाते हैं जबकि इस साल उनकी छुट्टी पांच दिन और बढ़ गई। छुट्टियों से वापस लौटे बच्चे व उनके परिजन हर दिन स्कूल खुलने का इंतजार कर रहे थे। थोड़ी-थोड़ी कर बढ़ी छुट्टी से बच्चों का धैर्य टूट भी रहा था। इसीलिए शनिवार को जब बच्चे स्कूल पहुंचे तो उनके लिए दोस्तों से मिलने का रोमांच साफ दिखाई दिया।

सुबह स्कूल जाते समय बच्चों में जो जोश दिखा वही जोश स्कूल की छुट्टी के दौरान भी देखने को मिला। परिजनों ने भी बड़े उत्साह के साथ सुबह बच्चों को स्कूल छोड़ा और वापस लेने पहुंचे। सोफिया ग‌र्ल्स स्कूल और दीवान पब्लिक स्कूल सहित तमाम स्कूलों में शनिवार को ही कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चों के लिए पढ़ाई शुरू हुई। अब सोमवार से सेंट मेरीज एकेडमी व केएल इंटरनेशनल स्कूल भी आठवीं तक के बच्चों के लिए खुल जाएगा। सेंट मेरीज एकेडमी में सोमवार से बच्चों का यूनिट टेस्ट भी है। बच्चों को छुट्टी से सीधे टेस्ट देने के लिए लिए पहुंचना है।

बिगड़ी ट्रैफिक व्यवस्था

वेस्ट एंड रोड पर एक साथ स्कूलों की छुट्टी होने से अक्सर ट्रैफिक की समस्या होती है। स्कूलों ने समय में अंतर कर रखा है। इसके साथ ही छुट्टी के समय चार पहिया वाहनों की एंट्री पर प्रतिबंध लगाया गया है। लेकिन मौके पर कोई ट्रैफिक पुलिस कर्मी के न रहने से परिजन चार पहिया वानों को वेस्ट एंड रोड में ले जाते हैं और स्कूल के निकट से बच्चों को लेने की कोशिश करते हैं। इसीलिए छुट्टी के समय जल्दी निकलने के चक्कर में वाहनों की गति धीमी हो जाती है। इसी दौरान बहुत से बच्चे रास्ता पार कर ऑटो में बैठते हैं, कुछ साइकिल व दुपहिया वाहनों से निकलते हैं। चार पहिया वाहनों से बच्चों के चोट लगने का खतरा बना रहता है। 15 जुलाई तक बच्चों को मिलेगी यूनिफार्म

परिषदीय प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय, राजकीय, कस्तूरबा गांधी व समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चों को 15 जुलाई तक यूनिफार्म प्रदान किया जाएगा। इस बाबत शासन के निर्देश शनिवार को गुणवत्तापूर्ण यूनिफार्म वितरण कराने के लिए अपर जिलाधिकारी प्रशासन की अध्यक्षता में बैइक कर 15 जुलाई तक यूनिफार्म वितरित कराने को कहा गया है। चार सदस्यी समिति बनाई गई है जो यूनिफार्म खरीदेंगे। बीएसए सतेंद्र कुमार के अनुसार विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष सदस्य सचिव प्रधानाध्यापक, ग्राम पंचायत द्वारा नामित सदस्य व एक अभिभावक होंगे। क्रय समिति कपड़े की गुणवत्ता के लिए जिम्मेदार होगी। खरीदा हुआ कपड़ा स्कूल में भी अनिवार्य रूप से रखा जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप