मेरठ, जेएनएन। उद्यान विभाग की ओर से प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना के अंतर्गत लावड़ में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय के विज्ञानी डा. वीपी गंगवार व डा. संजय सिंह ने किसानों को ड्रिप सिचाई से होने वाले लाभ, पानी की बचत व उत्पादन में वृद्धि के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ड्रिप सिचाई विधि से एक हेक्टेयर में औसतन जल की 40 फीसद बचत, 30 फीसद उत्पादन में वृद्धि और खाद बीज में 50 फीसद तक बचत होती है। उद्यान विभाग से अपर सांख्यिकी अधिकारी जय कुमार व क्षेत्रीय प्रभारी भूपेंद्र कुमार ने किसानों को बताया कि लघु सीमांत किसानों के लिए अधिकतम दो हेक्टेयर तक 90 फीसद और दो हेक्टेयर से उपर 80 फीसद अनुदान मिलता है। बताया कि एक हेक्टेयर भूमि में ड्रिप लगाने का खर्च लगभग डेढ़ लाख रुपये है। जिला उद्यान अधिकारी आरएस राठौर ने कार्यशाला का समापन किया। मुख्य रूप से दाताराम सैनी, समय सिंह, जयप्रकाश, अरविद कुमार व सुनील कुमार आदि मौजूद रहे।

किसान महापंचायत की तैयारियों पर बैठक: क्षेत्र के कैली गांव में सात मार्च को कांग्रेस पार्टी की प्रस्तावित किसान महापंचायत को लेकर गुरुवार के क्षेत्र के कुलंजन गांव में बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें कांग्रेस कार्यकर्ताओ से आयोजन को सफल बनाने का आह्वान किया गया।

बैठक में रैली प्रभारी जितेंद्र पांचाल ने बताया कि सात मार्च को कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा महापंचायत को संबोधित करेंगी। यह बैठक कुलंजन गावं निवासी अहतेशाम प्रधान के आवास पर हुई। जिसमें कार्यकर्ताओं से गांव-गांव जाकर किसानों को रैली में बड़ी संख्या में पहुंचने के लिए संपर्क करने को कहा गया। बैठक की अध्यक्षता तारिक खान ने की ओर संचालन डा. ताहिर हंफी ने किया। बाद में जितेंद्र पांचाल ने कपसाड़, चकबंदी, रूहासा, दादरी, मानपुरी, मदरपुरा व अलीपुर आदि गांव का दौरा किया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021