जागरण संवाददाता, मेरठ। पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। कहा-अफगानिस्तान व तालिबान का सच सरकार हमसे छिपा रही है। सरकार बताए कि इस मुद्दे पर उसकी नीति क्या है। अगर अफगानिस्तान मसले पर सरकार हमसे बात करेगी तो हम राय जरूर देंगे।

शनिवार को उप्र विधानसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर कांग्रेस चुनाव घोषणा पत्र समिति का दल मेरठ पहुंचा। लालकुर्ती बाउंड्री रोड स्थित होटल क्रिस्टल पैलेस में पत्रकार वार्ता के दौरान सलमान खुर्शीद ने कहा कि अफगानी छात्र भारत में हैं। उनका वीजा समाप्त हो रहा है, लिहाजा सरकार उनकी मदद और सुरक्षा करे। उनकी सरकार बदल गई इसलिए हम हाथ नहीं खींच सकते। कांग्रेस के अगले राष्ट्रीय अध्यक्ष के सवाल पर पूर्व केंद्रीय मंत्री ने बिना नाम लिए कहा कि सब जानते हैं कि पार्टी किसके नेतृत्व में आगे बढ़ रही है। 2022 के चुनाव में उप्र में पार्टी का मुख्यमंत्री चेहरा कौन होगा? इस पर उन्होंने कहा कि इसका निर्णय पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा करेंगी लेकिन इस बार विस चुनाव कांग्रेस गंभीरता से लड़ेगी और जीतेगी।

प्रतिनिधिमंडलों के लिए सुझाव: चुनाव घोषणा पत्र समिति दल में पूर्व सलमान खुर्शीद के साथ कांग्रेस की प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत, पूर्व विधायक विवेक बंसल, अमिताभ दुबे और कांग्रेस कमेटी के सचिव रोहित चौधरी भी मौजूद रहे। चुनाव घोषणा पत्र के लिए 73 प्रतिनिधिमंडलों के सुझाव लिए। किसानों के साथ बैठक की और कताई मिल का निरीक्षण किया।

कांग्रेस के घोषणा पत्र में जनता से जुड़े मुद्दे होंगे शामिल

आगामी विस चुनाव के लिए कांग्रेस घोषणा पत्र तैयार कर रही है। इसमें जनता के मुद्दे शामिल हों, इस बात पर जोर दिया जा रहा है। इसी सिलसिले में उप्र कांग्रेस चुनाव घोषणा पत्र समिति मेरठ पहुंची और स्थानीय मुद्दों से रूबरू हुई। समिति ने होटल क्रिस्टल पैलेस में किसान, व्यापारी, स्वयंसेवी संगठन, छात्र प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात की। चुनाव घोषणा पत्र समिति के चेयरमैन पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद, पूर्व विधायक विवेक बंसल, राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत के सामने 73 प्रतिनिधिमंडलों के सुझाव आए। समिति के साथ कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव रोहित चौधरी व अमिताभ दुबे भी मौजूद रहे। 

Edited By: Himanshu Dwivedi