सहारनपुर, जेएनएन। लकड़ी के कारोबार से प्रसिद्ध सहारनपुर नशे का हब न बने इसके लिए पुलिस अफसरों ने कमर कस ली है। पुलिस ने पिछले एक हफ्ते से नशे के खिलाफ अभियान चलाया हुआ है। स्कूल कॉलेजों में योग कराया जा रहा है तो नशे के प्रति रेलियां निकाली जा रही हैं। हर थाना प्रभारी नशे के तस्करों को पकड़ कर जेल भेज रहे है। अब तक 60 से अधिक नशा तस्कर जेल भेजे जा चुके हैं। अब पुलिस हर गली मोहल्ले में जाकर लाउडस्पीकर से नशे के होने वाले नुकसान के बारे में बताएगी और लोगों से अपील करेगी कि कोई भी नशा ना करें।

एसएसपी डॉ एस चन्नप्पा ने बताया कि रोजाना सुबह और शाम हर थाने से फैंटम बाइक पर दो पुलिसकर्मी हर गली मोहल्ले में गश्त के लिए निकलते हैं। उनकी बाइक पर लाउडस्पीकर लगा हुआ होता है। इस लाउडस्पीकर से वह हर गली मोहल्ले में लोगों को नशे के प्रति जागरूक करेंगे। अपील करेंगे कि वह नशा ना करें। खासकर युवाओं के बारे में वह ज्यादा अपील करेंगे। इसके साथ ही लोगों से यह भी अनुरोध किया जाएगा कि यदि उनके गली मोहल्ले में कोई सुखा नशा बेच रहा है तो वह पुलिस को सूचना दें।

गौरतलब है कि एसएसपी के आदेश पर पूरे जिले में नशे के खिलाफ अभियान चल रहा है। नशा तस्करों को पकड़कर जेल भेजा जा रहा है। बता दें कि जिले में बरेली और बाराबंकी से नशा तस्कर नशे का सामान लेकर आते हैं और सहारनपुर के हर गली मोहल्ले में सप्लाई करते हैं। यही नहीं सहारनपुर के कुछ नशा तस्कर हरियाणा के करनाल, पानीपत, यमुनानगर जिले में भी नशे की सप्लाई करते हैं। इसके अलावा उत्तराखंड के देहरादून, रुड़की, हरिद्वार में भी नशे की सप्लाई की जाती है।

Edited By: Prem Dutt Bhatt