सहारनपुर, जागरण संवाददाता। सरसावा थानाक्षेत्र के गांव बीदपुर में मामूली कहासुनी के बाद दो पक्षों के बीच लाठी-डंडे चल गए। एक व्यक्ति को लाठियों से बुरी तरह से पीटा गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, मृतक के दो बेटे गंभीर रूप से घायल हैं। उन्हें राजकीय मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। मुकदमा दर्ज करने के बाद आरोपितों की तलाश में दबिश दी गई लेकिन सभी फरार है। गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। एसएसपी विपिन ताडा ने गांव पहुंचकर मामले की जानकारी ली।

यह है मामला 

गांव निवासी 55 वर्षीय शराफत अली बेटे सुहेल और अरबाज के साथ सोमवार सुबह आठ बजे खेत से काम करके लौट रहे थे। जब ये मांगा की झोपड़ी के पास पहुंचे तो किसी बात को लेकर मांगा और शराफत में विवाद हो गया। दोनों पक्षों के बीच गाली-गलौज के बाद लाठी-डंडे चल गए। इसमें गंभीर चोट लगने से शराफत की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, सुहेल और अरबाज घायल हो गए। 

गांव में पुलिस बल तैनात 

शराफत के तीसरे बेटे सरफराज ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि उसके पिता और उन्हें मांगा व मनोज पुत्रगण पवन, अभि व कार्तिक पुत्रगण मांगा ने उन्हें बुरी तरह से पीटा है। जिस कारण उनके पिता की मौत हुई है। सीओ नकुड़ अरविंद पुंडीर ने बताया कि चारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। गांव में पुलिस बल तैनात किया गया है। थाना प्रभारी धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि मांगा और शराफत के बीच कोई पुरानी रंजिश नहीं है। शुरुआत में पता चला था कि जमीन को लेकर रंजिश चल रही है लेकिन जांच में ऐसा नहीं मिला। दोनों पक्षों के आसपास न तो खेत है और न ही मकान।

रास्ते पर निकलने को लेकर मारपीट

जहां पर मांगा की झोपड़ी है, वहीं से खेतों से गांव में आने का रास्ता निकल रहा है। जिस समय शराफत वहां से गुजर रहा था तो मांगा ने उसे टोक दिया था। शराफत ने भी वहीं से निकलने की जिद की, जहां से मांगा रोक रहा था। इसी बात को लेकर दोनों के बीच झगड़ा हुआ था।

Edited By: Parveen Vashishta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट