मेरठ, जेएनएन। पुलिस लाइन में आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि मेडिकल थाना क्षेत्र के जागृति विहार निवासी उपेश अग्रवाल का मंगल पांडेय नगर में धर्मकांटा है। 13 जनवरी को हथियारबंद बदमाशों ने धावा बोलकर तीन लाख 20 हजार रुपये लूट लिए थे। सोमवार रात पुलिस ने भूदेव उर्फ अक्की निवासी नेहरू रोड खिरनी वाली गली बड़ौत, निशांत उर्फ छोटू निवासी मोहल्ला आजाद नगर बड़ौत, आसिफ निवासी आर्य नगर बड़ौत और करन निवासी यमुना विहार थाना भजनपुरा दिल्ली को गिरफ्तार किया। पूछताछ में भूदेव ने बताया कि जानलेवा हमला करने के मामले में वह दो मार्च 21 को बागपत जेल गया था। वहीं वाजिद निवासी लाल खंभा थाना बागपत से मुलाकात हुई थी। वह भी जानलेवा हमले के मामले में ही जेल मे बंद था। वाजिद जेल जाने से पहले ओम धर्मकांटा मेरठ में ट्रक से रोड़ी/डस्ट उतारने का काम करता था। उसे रुपयों के बारे में जानकारी थी। एसपी सिटी ने बताया कि पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि लूटी गई रकम और बदमाशों द्वारा बताई गई लूट की रकम में अंतर है।

13 जनवरी 22 को दो बाइक पर चारों बदमाश भूदेव, निशांत, आसिफ व करन सुबह तीन बजे बड़ौत से चलकर मेरठ धर्मकांटे पर 04.45 बजे पहुंच गए थे। साढ़े छह बजे भूदेव और निशांत कार्यालय में घुसे थे। इस दौरान भूदेव ने फायर किया था। एक लाख 33 हजार की लूट की थी। बड़ौत पहुंचने के बाद बदमाशों ने दावत की थी। भूदेव, निशांत और आसिफ के हिस्से में 20-20 हजार रुपये आए थे। बाकी पैसा करन ने रख लिया था, क्योंकि घटना करने से पहले तमंचों की व्यवस्था उसने की थी। उनसे 61 हजार रुपये बरामद हुए हैं।

Edited By: Jagran