मेरठ, जेएनएन। गढ़ रोड पर गुरुवार शाम ब्रेक फेल होने के चलते रोडवेज बस बेकाबू होकर दौड़ी। तेजगढ़ी चौराहे पर एक के बाद एक कई वाहनों में टक्कर मार दी। हादसे में छह लोग घायल हो गए। एक युवक बस के नीचे आ गया। गनीमत रही कि वह बच गया। राहगीरों में चीख-पुकार मच गई। पुलिस ने चालक और परिचालक को हिरासत में ले लिया। गुस्साए लोगों ने चालक की पिटाई का भी प्रयास किया।

सोहराब गेट डिपो से रोडवेज बस गढ़मुक्तेश्वर के लिए जा रही थी। बस पर चालक मनोज कुमार और परिचालक गजेंद्र थे। तेजगढ़ी चौराहे पर लालबत्ती के चलते वाहन रुके हुए थे। पीछे से आई बस ने पहले टेंपो में टक्कर मारी। इसके बाद ई-रिक्शा, बाइक, स्कूटी, साइकिल और रिक्शा को चपेट में ले लिया। मौके पर अफरा-तफरी मच गई। साइकिल सवार रिकू निवासी सराय काजी थाना मेडिकल बस के नीचे आ गया। गनीमत रही कि बस रुक गई नहीं तो बड़ा हादसा हो जाता। वहीं, बाइक सवार सुमित निवासी शिवशक्ति विहार मेडिकल, एक्टिवा सवार शिवराम निवासी मेडिकल, टेंपो सवार आकाश, रजत और आशा भी चोटिल हो गए। चीख-पुकार के बीच आसपास के लोग दौड़े और घायलों को अस्पताल पहुंचा। इस दौरान चौराहे पर खड़े ट्रैफिक पुलिसकर्मी और चौकी पर मौजूद सिपाहियों ने चालक को पकड़ लिया।

हादसे के बाद लगा जाम

दुर्घटना के बाद चौराहे पर जाम लग गया। बस से बचने के लिए लोग इधर-उधर भागने लगे। कुछ देर के लिए तो लोग समझ ही नहीं पाए कि हुआ क्या। यातायात पुलिस के साथ ही चौकी के सिपाहियों और आसपास के लोगों ने यातायात सुचारु करने में मदद की।

25 मार्च की दुर्घटना याद आ गई

दिल्ली रोड पर मेवला फ्लाईओवर के पास 25 मार्च को बेकाबू रोडवेज बस ने 12 वाहनों को टक्कर मार दी थी। हादसे में 20 लोग घायल हो गए थे। एक घंटे तक दिल्ली रोड पर अफरा-तफरी की स्थिति रही थी। तेजगढ़ी पर हुए हादसे के बाद इस घटना की याद ताजा हो गई।

हापुड़ रोड पर फायरिग से दहशत फैलाने वाले चार बदमाशों को दबोचा: हापुड़ रोड पर सलमान व सारिक गैंग के गुर्गों ने फायरिग की थी। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए गैंग के चार बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। जबकि सात आरोपित अभी भी फरार चल रहे है। जिनकी तलाश में लगातार दबिश दी जा रही है। पुलिस ने इनके कब्जे से तमंचे व भारी मात्रा में कारतूस बरामद किया है।

नौचंदी थाना क्षेत्र के हापुड़ रोड स्थित नंबरदार पेट्रोल पंप के समीप बुधवार देर रात सलमान व सारिक गैंग के गुर्गों के बीच गैंगवार हुई थी। उन्होंने एक दूसरे के प्रति डर पैदा करने के लिए हापुड़ अड्डे पर कई राउंड फायरिग की थी। जिसकी वजह से क्षेत्र में हड़कंप मच गया था। वारदात के बाद आरोपित हथियार लहराते हुए फरार हो गए थे। थाना प्रभारी प्रेम चंद शर्मा ने बताया कि बुधवार देर रात सलमान गैंग का आजम गाजी पुत्र मुन्ना गाजी निवासी इस्लाइल नगर थाना कोतवाली आरटीओ के समीप ग्रीन मिल्लत मंडप में एक शादी में गया था। मंडप के बाहर साकिर पक्ष से फरदिल पुत्र सारिक, रहमान पुत्र सारिक, रज्जाक पुत्र सारिक, शफीक, सगीर पुत्र शफ्फो पहलवान उर्फ शफीक अहमद मिल गए। दोनों के बीच कहासुनी हो गई। सारिक पक्ष ने आजम गाजी की पिटाई कर दी और फरार गए। उसके बाद आजम ने अपने साथी शहनवाज, शाहिद, शावेज, असलम पहलवान व अमिश के साथ मिलकर साकिर पक्ष के लोगों को हापुड़ रोड पर घेर लिया था। दोनों में कहासुनी के बाद जमकर फायरिग हुई। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आजम गाजी, शाहवाज अंसारी, शाहिद गाजी व शावेज को गिरफ्तार कर लिया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021