मेरठ, जेएनएन। कंकरखेड़ा क्षेत्र में दिल्ली का मोस्ट वांटेड डेढ़ लाख का इनामी शिव शक्ति नायडू मंगलवार को पुलिस मुठभेड़ में ढेर हो गया। फायरिंग में गोली लगने से सीओ दौराला भी घायल हो गए। शिव शक्ति वैष्णो धाम कालोनी में रह रहे इंस्पेक्टर और प्रॉपर्टी डीलर की हत्या करने के लिए अपने साथियों संग आया था। इसके अलावा दिल्ली के एसीपी ललित मोहन की भी हत्या की प्लानिंग कर चुका था।

सोमवार को सरधना क्षेत्र में बदमाशों ने फॉरच्यूनर गाड़ी लूटी थी। इसके बाद ये बदमाश कंकरखेड़ा स्थित आरके सिटी कालोनी में एक फौजी के खाली पड़े फ्लैट में रह रहे थे। कंकरखेड़ा पुलिस ने लूटी हुई फॉरच्यूनर फ्लैट के बाहर खड़ी देखी, जिसके बाद सीओ दौराला जितेंद्र कुमार ने टीम के साथ फ्लैट की घेराबंदी की। मंगलवार की शाम साढ़े चार बजे बदमाश फ्लैट में मौजूद थे। पुलिस को देखकर बदमाशों ने फ्लैट के अंदर से फायरिंग की। इससे कालोनी में हड़कंप मच गया।

पुलिस और बदमाशों की करीब 30 मिनट तक फायरिंग में दिल्ली के मोस्ट वांटेड बदमाश शिव शक्ति नायडू के सीने में गोली लग गई, जबकि उसके साथी रवि उर्फ भूरा एवं अन्य मौके से भाग गए। फायरिंग में एक गोली सीओ की पीठ पर भी लग गई। शक्ति नायडू और सीओ को जिला अस्पताल लाया गया, जहां उपचार के दौरान शिव शक्ति नायडू निवासी मदनगीर अंबेडकर नगर साउथ दिल्ली ने दम तोड़ दिया। सीओ की हालत खतरे से बाहर है।

एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि शिव शक्ति नायडू पर दिल्ली से पचास हजार और मेरठ से एक लाख रुपये का इनाम घोषित है। हाल ही में नायडू ने अपने गैंग के हनी की कंकरखेड़ा में गोली मारकर हत्या की थी। उसके चाचा तिलक राज को भी चार गोली मारी थी। तभी से मेरठ पुलिस शिव शक्ति नायडू की तलाश में लगी हुई थी।

एडीजी जोन  प्रशांत कुमार ने कहा कि शिव शक्ति नायडू बिजनौर में तैनात इंस्पेक्टर और प्रॉपर्टी डीलर की हत्या की साजिश रच रहा था। बदमाश से फॉरच्यूनर, नाइन एमएम की कारबाइन और 12 डीबीएल बंदूक बरामद हुई है। फरार बदमाशों की तलाश में कांबिंग की जा रही है।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस