मेरठ, जागरण संवाददाता। Raksha Bandhan 2022 मेरठ में रक्षाबंधन मनाने को लेकर गुरुवार को लोगों में संशय बना रहा। रक्षाबंधन पर्व को लेकर ज्योतिषविद और पुजारी एकमत नहीं हैं। गुरुवार को भद्रा आने पर रक्षाबंधन मनाई गई। बहनों ने भाइयों की कलाई पर रक्षासूत्र बांधकर मिठाई खिलाई तो वहीं, भाई ने भी बहन को उपहार भेंट किया। लेकिन आज 12 अगस्त को सूर्य उदय के समय सावन मास की पूर्णिमा तिथि रहेगी। जिस कारण आज भी राखी का पर्व मनाया जाएगा।

यह कहना है ज्योतिषविदों का

गुरुवार के पक्ष में कुछ ज्योतिषविदों ने कहा कि भद्रा पाताल में है, इसलिए इसका असर नहीं था। वहीं, कुछ पंडितों का कहना है कि 12 अगस्त को सूर्योदायिनी तिथि के साथ पूर्णिमा भी रहेगी। इसलिए शुक्रवार को भी रक्षाबंधन का पर्व मनाया जाएगा। ज्योतिषाचार्य राहुल अग्रवाल ने बताया कि 12 अगस्त में सूर्य उदय के समय सावन मास की पूर्णिमा तिथि रहेगी।

12 अगस्त को ही मनाना उत्तम

कहा कि राष्ट्रीय पंचांग विश्वविजय के अनुसार, स्पष्ट निर्देशित किया गया है कि रक्षाबंधन का पर्व 12 अगस्त को ही मनाना उत्तम रहेगा। 11 अगस्त को सुबह 10:34 बजे से पूर्णिमा लगते ही भद्रा का साया शुरू हो जाएगा। जो रात्रि में 8:30 बजे तक रहेगा। इस कारण रक्षाबंधन का पर्व 12 को ही मनाना उचित रहेगा। बांके बिहारी मंदिर से जुड़े पंडित डा. एसके शर्मा ने बताया कि रक्षाबंधन का पर्व 12 अगस्त को है।

सूर्योदय के बाद

शुक्रवार को सूर्यादय होते ही पूर्णिमा खत्म होने तक रक्षाबंधन मनाई जा सकती है। 11 अगस्त की रात्रि में 8:35 बजे से मुहूर्त शुरू हुआ है। लेकिन रात को रक्षाबंधन न मनाकर अगले दिन सूर्योदय के बाद मनाई जाएगी। गायत्री शक्तिपीठ कल्याणनगर के मीडिया प्रभारी डा. गौरव मित्तल ने बताया कि गायत्री तीर्थ शांतिकुंज हरिद्वार की शाखा में आज रक्षाबंधन मनाई जाएगी। 

Edited By: Prem Dutt Bhatt