मुजफ्फरनगर, जागरण संवाददाता। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि अग्निपथ योजना का विरोध भाकियू ने किया है और करती रहेगी। केंद्र की इस योजना पर भाकियू अपने रुख पर कायम है। हालांकि भाकियू अग्निपथ योजना की विरोधी है, लेकिन सेना में भर्ती की नहीं। ऐसा इसलिए क्योंकि देश में बेरोजगारी बढ़ रही है, जो युवा चाहें वह सेना की भर्ती में शामिल हों, इसमें भाकियू को एतराज नहीं है।

अग्निपथ योजना युवाओं के साथ खिलवाड़ है

मुजफ्फरनगर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा, अग्निपथ योजना युवाओं के साथ खिलवाड़ है। सेना की तैयारी कर रहे व देश सेवा का जज्बा लिए युवाओं का भविष्य इससे अंधकारमय हो जाएगा। भाकियू युवाओं के भविष्य को लेकर चिंतित है, इसी कारण वह इसका विरोध कर रही है। उन्होंने कहा, भाकियू अपने रुख व विरोध पर कायम है। कुछ लोग भाकियू की नीति को लेकर भ्रामक प्रचार कर रहे हैं कि भाकियू अग्निपथ योजना का समर्थन करती है। उन्होंने इसे गलत बताया। उन्होंने कहा कि अग्निपथ योजना में अग्निवीर बनाने को शुरू की गई भर्ती का वह विरोध नहीं करते हैं। जो युवा चाहें इस भर्ती में शामिल हों, भाकियू का इसमें न तो कोई विरोध है न ही दिक्कत। कम से कम बेरोजगार युवाओं को रोजगार तो मिलेगा। उन्होंने कहा, केन्द्र सरकार को अग्निपथ योजना को तत्काल वापस लेना चाहिए, क्योंकि आने वाले दिनों में इससे देश को नुकसान पहुंचेगा।

भाकियू ने कलक्ट्रेट पर धरना

मेरठ : भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत के आह्वान पर युवा जिलाध्यक्ष अनुराग चौधरी के नेतृत्व में कलक्ट्रेट परिसर में भाकियू कार्यकर्ताओं ने धरना शुरू किया। युवा जिलाध्यक्ष ने कहा कि धरना 72 घंटे तक चलेगा। संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान की सूचना पर जिला मुख्यालय पर भाकियू कार्यकर्ताओं की शाम देर रात तक बढ़ती रही। इस दौरान मुख्य रूप से सुशील कुमार पटेल, मोनू ढिंडाला, छोटू गेझा, रविन्द्र दौरालिया, राजकुमार करनावल, सुशील पटेल, हर्ष चाहल, जगत सिंह राठी आदि मौजूद रहे।

Edited By: Taruna Tayal