मेरठ,जेएनएन। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की टीम ने बुधवार को पटाखे बनाने की फैक्ट्री पर छापामार कार्रवाई करते हुए जांच-पड़ताल की। यहां भारी मात्रा में तैयार पटाखों का स्टॉक तो था ही, युद्धस्तर पर पटाखा बनाने का काम भी चल रहा था। सूचना थी कि बाहर से ताला लगाकर अंदर पटाखे बनाए जा रहे थे।

बुधवार शाम जीएसटी की टीम ने उपायुक्त चंदन कुमार के नेतृत्व में गढ़ रोड स्थित संस्कार बैंक्वेट हॉल के पीछे जनता नगर में दीपक फायर व‌र्क्स इंडिया व श्रीराम फायर व‌र्क्स में छापा मारा। यहां पर पटाखों का निर्मित स्टॉक मिला। पटाखों में मुख्य रूप से फूलझड़ी की अधिकारियों ने जांच की। छापामार कार्रवाई की सूचना लगते ही सेंट्रल मार्केट के पदाधिकारी समेत कई व्यापारी मौके पर पहुंच गए और कार्रवाई का विरोध करने लगे। इस दौरान व्यापारियों ने छायाकारों को भी रोकने की कोशिश की।

छापेमारी में वस्तु एवं सेवा कर के उपायुक्त चंदन कुमार के नेतृत्व में अधीक्षक पंकज त्यागी, अधीक्षक अजय मलिक व निरीक्षकों में अखिल त्यागी, ब्रजेश अवस्थी, कुलदीप सिंह, आलोक व बिजेंद्र आदि मौजूद रहे।

तत्कालीन मंडलायुक्त ने की थी कार्रवाई

जनता नगर स्थित यह वही फैक्ट्री है जिसमें कुछ वर्ष पूर्व तत्कालीन मंडलायुक्त डा. प्रभात कुमार ने दीवाली से पहले छापामार कार्रवाई की थी। लेकिन उसके बाद दुबारा फैक्ट्री चालू कर दी गई। अब सवाल उठता है कि किसके इशारे पर यह फैक्ट्री चालू की गई।

पुलिस की अनभिज्ञता पर सवाल

आवासीय क्षेत्र में चल रही फैक्ट्री में भारी मात्रा में पटाखे जब्त किए गए। आवासीय क्षेत्र में यदि कोई हादसा या दुर्घटना होती है तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। पुलिस ने अनभिज्ञता दर्शाकर पूरे मामले से पल्ला तो झाड़ लिया। लेकिन बडा सवाल यह भी है कि आवासीय क्षेत्र में पटाखा फैक्ट्री संचालित करने के पीछे किसका संरक्षण है।

वर्जन -

आवासीय क्षेत्र में फैक्ट्री किस आधार पर चल रही थी। इसकी जांच की जाएगी। जीएसटी अपनी कार्रवाई करेगी ओर प्रशासन अपनी रिपोर्ट तैयार करेगा। थाना पुलिस की अनभिज्ञता के संबंध में भी गंभीरता से जवाब तलब किया जाएगा।

- अजय तिवारी, एडीएम सिटी

दो अलग-अलग बिल्डिंगों में तैयार पटाखा सामग्री मिली है। संबंधित दस्तावेज मंगाए गए हैं। जांच की जा रही है। कार्रवाई पूरी होने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। जीएसटी केवल टैक्स के संबंध में अपनी कार्रवाई करेगी। - अखिल त्यागी, निरीक्षक, जीएसटी टीम।

पटाखा फैक्ट्री के बारे में कोई जानकारी नहीं है। किसी ने अनुमति नहीं ली है। - तपेश्वर सागर, इंस्पेक्टर नौचंदी थाना

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप