बागपत, जेएनएन। योगीजी की सरकार किसानों पर मेहरबान है। एक अक्टूबर से शुरू होने वाले रबी सीजन की बुआई में आर्थिक तंगी बाधा न बने, इसके लिए सस्ती ब्याज दर पर फसली कर्ज बांटने का लक्ष्य घोषित कर दिया गया।

फसली कर्ज रबी सीजन की बुआई के लिए मिलेगा

कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा ने बागपत के सवा लाख किसानों को 1446 करोड़ रुपये का फसली कर्ज वितरण लक्ष्य दिया है। किसानों को सहकारिता विभाग से 120 करोड़ व कामर्शियल बैंकों से 1296 करोड़ रुपये का फसली कर्ज रबी सीजन की बुआई के लिए मिलेगा।

सुखद बात यह है बैंक जहां गैर कृषि क्षेत्र के कर्ज पर 14 फीसदी दर से ब्याज वसूलते हैं वहीं किसानों से फसली कर्ज पर महज चार फीसदी दर से ब्याज वसूलेंगे। यानी रबी सीजन में गेहूं अथवा अन्य फसलों की बुआई करने में पैसों की तंगी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

बागपत में रबी सीजन में करीब 58 हजार हेक्टेयर जमीन पर बुआई होगी। कृषि उप निदेशक प्रशांत कुमार

ने कहा कि फसली कर्ज वितरण होने से समय से बुआई हो सकेगी। जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक राजेश पंत ने कहा कि शासन से मिले फसली कर्ज का लक्ष्य बैंकवार विभाजित कर पूरा कराएंगे।

कर्ज वितरण का लक्ष्य

-14.46 अरब रुपये बागपत

-12.99 अरब रुपये शामली

-30 अरब रुपये बुलंदशहर

-30.12 अरब रुपये मेरठ में

-28.27 अरब का सहारनपुर

-20.76 अरब मुजफ्फरनगर

-31.78 अरब रुपये बिजनौर

Edited By: Taruna Tayal