मेरठ, जागरण संवाददाता। The Millennium Schoolमेरठ के वेद व्यासपुरी स्थित द मिलेनियम स्कूल प्रबंधन बिना किसी पूर्व सूचना के स्कूल बंद करने की तैयारी कर रहा है। स्कूल प्रबंधन ने प्रिंसिपल व शिक्षकों से वर्तमान सत्र 2022-23 को ही स्कूल का अंतिम सत्र बताते हुए बंद करने की तैयारी करने को कहा है। बिना किसी आधिकारिक घोषणा के स्कूल ने इस सत्र में कक्षा नौवीं व 11वीं में प्रवेश नहीं लिए लेकिन अन्य कक्षाओं में प्रवेश ले लिए।

अभिभावकों में बेचैनी

अभिभावकों को सत्र शुरू हो के चौथे महीने के अंतिम सप्ताह में स्कूल बंद होने की सूचना से अफरा-तफरी मच गई है। अभिभावकों का कहना है कि बीच सत्र में यह सूचना मिलने से किसी अन्य स्कूल में प्रवेश भी नहीं हो पा रहा है।

पूरी तैयारी की, अब कहां जाएं

परेशान अभिभावकों में से एक साक्षी जैन ने बताया कि सत्र शुरू होने के बाद किताब-कापी, यूनिफार्म व अन्य सामग्री पूरे साल की ले ली गई है। अब दूसरे स्कूल में प्रवेश नहीं हो रहे हैं। प्रवेश मिल भी गया तो अभिभावकों को पूरे सत्र की फीस देनी होगी। साथ ही नई किताबें, यूनिफार्म आदि लेने होंगे। अभिभावकों को भी स्कूल बंद होने का कोई कारण नहीं बताया जा रहा है। भले ही यह सत्र स्कूल संचालन की बात कही जा रही है लेकिन इसी बीच शिक्षक स्कूल छोड़कर जाने लगे हैं। ऐसे में बच्चों की पढ़ाई अभी से बंद हो गई है जिससे अभिभावक इस सत्र में भी बच्चों को स्कूल में पढ़ाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं।

वापस करनी पड़ती है मान्यता

मेरठ स्कूल सहोदय काम्प्लेक्स के अध्यक्ष राहुल केसरवानी के अनुसार कोई स्कूल बिना किसी पूर्व सूचना के बंद नहीं किया जा सकता है। स्कूल बंद करने से पूर्व संबंधित सत्र को पूरा करना होता है। नौवीं व 11वीं में छात्र हैं तो उन्हें या तो बोर्ड परीक्षा दिलाएं या सीबीएसई को सूचित कर उनका स्कूल बदलवाएं। सीबीएसई को एफिलिएशन, जिले के शिक्षा विभाग को एनओसी और बेसिक शिक्षा विभाग को आठवीं तक की मान्यता सरेंडर करना पड़ता है।

निकल गई स्मार्ट क्लास की हवा

द मिलेनियम स्कूलों का संचालन एडुकाम्प कंपनी ने शुरू किया था। यही सस्था करीब 10 साल पहले सबसे पहले स्कूलों में स्मार्ट क्लास सिस्टम लेकर आई थी। उस समय मेरठ के 30 बड़े स्कूलों ने इनकी स्मार्ट क्लास सेवाएं ली थी लेकिन खराब सेवा के कारण सभी ने एडुकाम्प की सेवाएं बंद कर दी। इसके साथ ही संस्था ने लिटिल मिलेनियम, द मिलेनियम स्कूल, तक्षशिला स्कूल, यूनिवर्सल एकेडमी और एडुकाम्प को-ब्रांडेड स्कूल संचालित किए।

प्रिंसिपल ने नहीं उठाया फोन

मेरठ का स्कूल बंद किए जाने पर स्कूल की प्रिंसिपल रचना भारद्वाज को बार-बार फोन करने भी उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। स्कूल के प्रवक्ता हिमांशु खन्ना ने बताया कि स्कूल इस सत्र में संचालित रहेगा। 10वीं व 12वीं के छात्रों को बोर्ड परीक्षा दिलाएंगे। प्रबंधन की ओर से जल्द ही नोटिस जारी किया जाएगा।  

Edited By: Prem Dutt Bhatt