मेरठ : स्थानीय पुलिस ने शुक्रवार शाम कबाड़ी बाजार में छापामारी कर जबरन देह व्यापार कराने का भंडाफोड़ किया है। स्थानीय पुलिस ने पहली बार मुखबिर की सूचना पर दबिश दी। पुलिस ने दो कोठों की संचालिकाओं को गिरफ्तार कर दो युवतियों को मुक्त कराया है।

एंटी ह्यूंमन ट्रेफिकिंग यूनिट प्रभारी असमा माजिद ने बताया कि मुखबिर ने सूचना दी कि कबाड़ी बाजार में दो कोठों पर नाबालिग लड़कियों से जबरन देह व्यापार कराया जा रहा है। एसपी क्राइम शिवराम यादव, एएसपी क्राइम सतपाल आंतिल के नेतृत्व में एएचटीयू की टीम ने कुमकुम व पिंकी के कोठों पर छापा मारा तो भगदड़ मच गई। आस-पास के कोठों पर ताले लटक गए। पुलिस ने घेराबंदी करते हुए पिंकी व कुमकुम को गिरफ्तार कर लिया। उनके कोठों से कोलकाता की दो युवतियों को बंधनमुक्त कराया। पिंकी जिला दक्षिण 24, पश्चिम बंगाल के गांव सचिया खाली और कुमकुम जिला टोंक, राजस्थान के गांव नारवाडी की रहने वाली है।

जबरन देह व्यापार मिलने पर बंद होगा कोठा

एसपी क्राइम शिवराम यादव ने बताया कि नौकरी या शादी का झांसा देकर लड़कियों को देह व्यापार के धंधे में उतार दिया जाता है। अधिकांश कोठे किराए पर चल रहे हैं। उक्त दोनों कोठे नरेश कुमार नाम के व्यक्ति के हैं। वह प्रति कोठा 13 हजार रुपये महीना किराया वसूल रहा है। नरेश को भी मुकदमे में आरोपित बनाया गया है। जिन कोठों पर जबरन देह व्यापार पकड़ा जाएगा, उन्हें सील करने के लिए डीएम को प्रार्थना-पत्र दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस