मेरठ, जेएनएन। पाच सौ से ज्यादा बदमाशों के पैर में गोली मारने वाली पुलिस की एक वायरल वीडियो ने फजीहत करा दी है। वायरल वीडियो में जेल में बंद शारिक व सलमान के शूटर सरेराह फायरिग करते हुए बाइकों से जा रहे है। उन्हें पकड़ने के लिए जाकिर कालोनी से लेकर हापुड़ अड्डा स्थित पेट्रोल पंप तक तीन थानों की पुलिस दो किलोमीटर तक दौड़ी थी। वीडियो वायरल होने के बाद कप्तान ने भी सीओ और थाना प्रभारियों पर नाराजगी जताई है। अब तीनों थानों की पुलिस वीडियो के आधार पर शूटरों को ढूंढ रही है।

इंटरनेट मीडिया पर सोमवार को एक वीडियो वायरल हुई, जो मेरठ पुलिस की मुठभेड़ की हकीकत को बयां कर रही है। वीडियो में जेल में बंद शारिक और सलमान के शूटरों की है, जो बाइकों से जाकिर कालोनी से हापुड़ अड्डे तक करीब दो किमी तक हथियारों से फायरिग करते हुए जा रहे हैं। नौचंदी, लिसाड़ीगेट और कोतवाली थाने की पुलिस उनका पीछा कर रही है। तब भी बदमाशों को पुलिस पकड़ नही पाई। बदमाशों ने पुलिस पर भी फायरिग की, जो सीसीटीवी में कैद हो गए। हालाकि पुलिस ने पुलिस पर हमला, रंगदारी, सरेराह दहशत फैलाने का मुकदमा दर्ज कर चार दिन में चार आरोपित पकड़ लिए हैं, अभी भी मुख्य आरोपितों को पुलिस पकड़ नहीं पाई।

यह हुआ था उस दिन..

नौचंदी थाना क्षेत्र में स्थित ग्रीन मिल्लत मंडप में सात अप्रैल को आयोजित शादी समारोह में सलमान का शूटर इस्माइल नगर निवासी अरबाज गाजी गया था। तभी शारिक के बेटे फरदिल, रहमान, रज्जाक, सगीर, वामिक पुत्रगण सपपो, असलम, अमिश अपने साथियों के साथ पहुंच गया। सलमान और शारिक की सट्टा वसूली को लेकर पहले से दुश्मनी चल रही है। हाल में दोनों जेल में बंद है। शारिक के बेटों ने साथियों के साथ मिलकर अरबाज गाजी की पिटाई कर दी। तभी अरबाज ने अपने साथी शाहबाज, शाहिद और सावेज समेत बड़ी संख्या में शूटरों को हथियार लेकर बुलाया। इसके बाद दोनों पक्षों में पुलिस के सामने गोलियां चली थी। इनमें से चार आरोपितों को पुलिस दूसरे दिन पकड़ पाई।

इनका कहना है..

पुलिस ने दोनों गैंग के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। चार आरोपित जेल भेज दिए हैं। बाकी आरोपितों को पकड़ने के लिए टीम लगी है। सभी को असलाह के साथ पकड़ा जाएगा।

-अजय साहनी, एसएसपी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप