शामली, जेएनएन। पंजाब पुलिस ने नशीली दवाओं की तस्करी के आरोप में हनुमान धाम रोड स्थित एक मेडिकल स्टोर संचालक को गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले सुबह झिंझाना से एक युवक से नौ हजार नशीली गोलियां बरामद कर उसे भी गिरफ्तार किया। उससे पूछताछ के आधार पर पंजाब पुलिस एजेंसी संचालक तक पहुंची। 

पंजाब पुलिस की टीम जगराव थाना के एसआइ विनोद कुमार के नेतृत्व में शामली आई थी। शामली कोतवाली में आमद दर्ज कराने के बाद स्थानीय पुलिस के साथ हनुमान धाम रोड स्थित एक मेडिकल एजेंसी पर छापामारी की। प्रतिबंधित दवाओं की खरीद-बिक्री के बिल नहीं मिले। पुलिस ने मेडिकल एजेंसी संचालक शहजाद को गिरफ्तार करने के साथ ही लैपटॉप, कुछ दस्तावेज और उसकी गाड़ी भी कब्जे में ली है। गाड़ी में कुछ दवा भी मिली। हालांकि, स्पष्ट नहीं हो सका कि ये किस तरह की दवा थी।

पंजाब पुलिस ने बताया कि मेडिकल स्टोर संचालक पंजाब में नशीली दवाओं की सप्लाई करता था। इसके लिए चेन बनाई गई थी। 26 मई को जगराव थानाक्षेत्र के गांव कोके निवासी सुखविंदर उर्फ मिठ्ठू को छह हजार नशीली गोलियों के साथ गिरफ्तार किया था। वह पुलिस रिमांड पर है। पूछताछ में उसने बताया कि उसे नशीली दवा झिंझाना के एक युवक से मिलती हैं। गुरुवार सुबह पंजाब पुलिस ने झिंझाना के आरोपित अशरफ को गिरफ्तार कर लिया। नौ हजार गोलियां बरामद कीं। उससे पूछताछ में पता चला कि उसे पंजाब में सप्लाई के लिए शामली का एक मेडिकल एजेंसी संचालक गोलियां देता है। पंजाब पुलिस के इंस्पेक्टर विनोद कुमार ने बताया कि एनडीपीएस एक्ट में कार्रवाई की जाएगी। मेडिकल एजेंसी संचालक और झिंझाना से गिरफ्तार युवक को पंजाब पुलिस साथ ले गई।

दस डिब्बों की डील हुई कैंसिल

पंजाब पुलिस मेडिकल एजेंसी संचालक को रंगेहाथ पकडऩा चाहती थी। झिंझाना से हिरासत में लिए युवक से गुरुवार सुबह बात कराई गई थी और नशीली गोलियों के दस डिब्बे की डिमांड रखी थी। दोनों की बातचीत की रिकॉर्डिंग भी की गई थी। पंजाब पुलिस के मुताबिक, गोलियों की डिलीवरी गुरुवार शाम को ही होनी थी। शायद मेडिकल एजेंसी संचालक को शक हो गया और उसने यह डील कैंसिल कर दी।

दवा व्यापारी हुए एकत्र

पंजाब पुलिस की छापामारी के दौरान काफी दवा व्यापारी एकत्र हो गए थे। जब पुलिस ने आरोपित मेडिकल एजेंसी संचालक की कार को कब्जे में लिया तो दवा व्यापारियों ने हल्का विरोध भी किया। पुलिस ने उन्हें समझाया कि यह कार्रवाई का हिस्सा है। इस दौरान कई मेडिकल स्टोर बंद हो गए।

इन्होंने कहा-

पंजाब के जनपद लुधियाना की पुलिस टीम इंस्पेक्टर विनोद कुमार के नेतृत्व में आई थी। इस टीम ने शामली कोतवाली पुलिस के साथ दबिश दी और एक मेडिकल संचालक को गिरफ्तार किया। मेडिकल संचालक एनडीपीएस एक्ट के मुकदमे में वांछित था। इसी के चलते पंजाब पुलिस ने यह गिरफ्तारी की है। पंजाब पुलिस आरोपित को साथ ले गई है। -प्रेमवीर राणा, प्रभारी शामली कोतवाली। 

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस