मेरठ, जागरण संवाददाता। Pitru Paksha 2021 हिंदू शास्त्रों में पितृपक्ष में खरीदारी न करने का कहीं वर्णन नहीं किया गया है। बल्कि इस मान्यता को इसलिए बल मिला क्योंकि व्यक्ति नई चीजों में ध्यान लगाकर पितरों की सेवा से विमुख न हो जाए। यही कारण है कि पुराने समय में कई भय दिखाकर नए कार्यों एवं खरीदारी को रोका गया। यदि अपनी खुशियों के साथ पितरों का ध्यान भी रखें तो श्राद्ध पक्ष में खरीदारी करने में कोई बुराई नहीं है।

ग्राहकों को लुभा रहे बाजारों के आकर्षक आफर

कोरोना काल में व्यापार की गति बढ़ाने के उद्देश्य से श्राद्ध पक्ष में व्यापारियों की ओर से इस समय कई आकर्षक आफर दिए जा रहे हैं। जिसकी वजह से भी इन दिनों आने वाले त्योहारी जीवन में सजने-संवरने के लिए कास्टमेटिक और आर्टिफिशियल ज्वेलरी की खरीदारी महिलाएं जमकर कर रही हैं। इस दौरान 'बाय वन गेट वन' आफर के अलाव दस फीसद तक छूट का लाभ भी उठा रही हैं। कास्मेटिक और आर्टिफिशियल ज्वेलरी विक्रेताओं का कहना है कि इन दोनों ही चीजों का बाजार हमेशा गर्म रहता है।

इन्होंने कहा

श्राद्ध पक्ष में बाजार की स्थिति सामान्य है, कुछ वर्ष पहले तक श्राद्ध पक्ष में लोग बिल्कुल खरीदारी नहीं करते थे। लेकिन अब ऐसा नहीं है। आने वाले त्योहारी सीजन और शादी विवाह में पहनी जाने वाली आर्टिफिशियल ज्वेलरी की खरीदारी महिलाओं ने शुरू कर दी है। भीड़भाड़ से बचने के लिए वह ऐसा कर रही हैं।

- विनेश तोमर, सदर ज्वेलर्स सदर सराफा

सभी कास्मेटिक उत्पाद पर दस फीसद तक का डिस्काउंट दिया जा रहा है। इसके साथ ही हजार और दो हजार रुपये की खरीदारी पर विशेष उपहार भी दिए जा रहे हैं। जिसका लाभ महिलाएं खरीदारी कर उठा रही हैं। नई वैरायटी की अधिकता के कारण भी महिलाओं ने त्योहारी सीजन की खरीदारी शुरू कर दी है।

- अंकित गुप्ता, श्रृंगार, शारदा रोड

आर्टिफिशियल ज्वेलरी का बाजार आज असली गहनों को टक्कर दे रहा है। इस ज्वेलरी को हर उम्र और वर्ग की महिलाएं पहनना पसंद करती हैं। तभी तो आर्टिफिशियल ज्वेलरी की डिमांड हमेशा रहती है। महिलाओं ने करवाचौथ के लिए अभी से नई रेंज की खरीदारी शुरू कर दी है। जिससे उन्हें अपनी पसंद की ज्वेलरी मिल सके।

- अर्पित गुप्ता, मिनर्वा शापिंग सेंटर, शास्त्रीनगर

लोगों की मानसिकता बदल रही है। अब लोग जरूरत और पसंद के हिसाब से खरीदारी करते हैं। उन्हें जब जो चीज पसंद आती है, खरीद लेते हैं। श्राद्ध पक्ष में लोगों को खरीदारी करने से कोई परहेज नहीं है।

- राजेश सिंघल, वैरायटी स्टोर, बेगमपुल

Edited By: Prem Dutt Bhatt