बिजनौर, जागरण संवाददाता। केंद्र एवं प्रदेश सरकार से अब भी महीने में दो बार फ्री गेहूं मिलने के बाद भी गेहूं के दामों में तेजी आनी शुरू हो गई है। बाजार में किसानों से गेहूं 2300 से 2400 रुपये प्रति क्विंटल खरीदा जा रहा है। पहली बार गेहूं का दाम रिकार्ड ऊंचाईयों पर पहुंचा है। गेहूं के दाम अच्छे होने से आने वाले सीजन में भी किसानों को फसल की अच्छी कीमत मिलेगी।

फ्री राशन के चलते दाम हुए थे कम

दो साल पहले कोरोना के समय सरकार ने जनता को फ्री राशन देने की शुरूआत की थी। पिछले साल प्रदेश सरकार ने भी राशन कार्ड धारकों को फ्री राशन देना शुरू कर दिया। जिले में करीब सवा पांच लाख राशन कार्ड धारकों को दो बार फ्री राशन दिया जाता है। फ्री राशन देने की योजना शुरू होते ही गेहूं के बाजार दाम धड़ाम हो गए थे। बाजार दाम दो हजार रुपये प्रति क्विंटल से घटकर 1200 से 1300 रुपये प्रति क्विंटल ही रह गए थे। दो साल गेहूं के दाम कम रहे तो किसान भी परेशान हो गए। किसानों ने बाजार की स्थिति को देखते हुए बीते सीजन में गेहूं का रकबा 33 प्रतिशत तक घटा दिया था। इससे गहाई के सीजन के समय ही दाम बढ़कर 2100 रुपये प्रति क्विंटल तक पहुंच गए थे जबकि बाजार दाम 2015 रुपये ही थे। अब भी सरकार द्वारा फ्री राशन दिया जा रहा है लेकिन गेहूं की कीमतों में उछाल आना शुरू हो गया है। बाजार में किसानों से 2300 से 2400 रुपये प्रति क्विंटल पर गेहूं खरीदा जा रहा है। आज तक गेहूं के दाम इतनी ऊंचाई पर नहीं पहुंचे हैं। अगले सीजन तक गेहूं के दाम यह दाम अगले सीजन तक रहने की उम्मीद है।

अभी जारी रहेगी दामों में तेजी

बाजार में गेहूं के दामों में पहले से काफी तेजी है। किसानों को अब गेहूं के दाम पहले से ज्यादा मिल रहे हैं। अभी कुछ और दिन दामों में तेजी रहने का अनुमान है।

- सुशील जिंदल, अनाज व्यापारी

Edited By: Taruna Tayal