मेरठ, जागरण संवाददाता। शिक्षा मंत्रालय की ओर से स्कूली सुधारों को परखने के लिए किए गए जिला स्तरीय परफारमेंस ग्रेडिंग इंडेक्स यानी पीजीआइ-डी रिपोर्ट में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिलों का प्रदर्शन सराहनीय रहा है। सत्र 2018-19 के सर्वे में प्रदेश के 75 जिलों में पश्चिमी उप्र के आठ जिले अति उत्तम व उत्तम श्रेणी में हैं। वहीं सत्र 2019-20 में पश्चिमी उप्र के 10 जिलों का प्रदर्शन अति उत्तम और उत्तम श्रेणी का मिला है। दोनों वर्ष एक-एक जिला अति उत्तम रहे। अति उत्तम जिलों को 71-80 प्रतिशत अंक मिले और उत्तम जिलों को 61-70 प्रतिशत अंक मिले हैं। जिलों को छह बिंदुओं पर निर्धारित 600 अंकों पर ग्रेडिंग दी गई है।

2018-19 में जिलों को मिले प्रदर्शन

परफारमेंड इंडेक्श रिपोर्ट में सत्र 2018-19 में अति उत्तम जिला गौतमबुद्ध नगर को 70 प्रतिशत अंक मिले। इसके अलावा उत्तम जिलों में शामिल मेरठ 66.5 प्रतिशत, मथुरा 65 प्रतिशत, अलीगढ़ 64 प्रतिशत, अमरोहा 61.8 प्रतिशत, गाजियाबाद 61.6 प्रतिशत, हाथरस 60:8 प्रतिशत और आगरा 60.6 प्रतिशत अंक लेने में सफल रहा। 365 अंकों के साथ हापुड़ उत्तम से एक पायदा नीचे प्रचेस्टा-एक में रहा।

2019-20 में यह रहा जिलों का प्रदर्शन

पीजीआइ-डी रिपोर्ट में सत्र 2019-20 में शामिल पश्चिम उत्तर प्रदेश का मथुरा 71 प्रतिशत अंक के साथ अति उत्तम रहा। उत्तम जिलों में शामिल अलीगढ़ 69:8 प्रतिशत, गौतमबुद्धनगर को 69.8 प्रतिशत, गाजियाबाद 66 प्रतिशत, मेरठ 66 प्रतिशत, हाथरस 62.8 प्रतिशत, अमरोहा 62 प्रतिशत, आगरा 61.8 प्रतिशत, मुरादाबाद और बिनौर को 60-60 प्रतिशत अंक मिले।उत्तम से एक कड़ी नीचे प्रचेस्टा-एक में 360 अंकों के साथ बागपत और सहारनपुर को 359 अंक मिले हैं।

पश्चिमी उप्र के जिलों को 600 में यह अंक

जिला 2018-19 2019-20

गौतमबुद्धनगर 420 419

मेरठ 399 396

मथुरा 391 426

अलीगढ़ 385 419

अमरोहा 371 372

गाजियाबाद 370 396

हाथरस 365 377

आगरा 364 371

मुरादाबाद --- 362

बिजनौर --- 361

Edited By: Taruna Tayal