मेरठ, जेएनएन। देश को हिलाकर रख देने वाले दिल्ली के निर्भया कांड के दोषियों को फांसी की सजा मुकर्रर हो गई। तभी से पवन जल्लाद उन्हें फांसी देने के लिए उत्सुक है। उसका कहना है कि सिर्फ बुलावे का इंतजार कर रहा हूं। बुलावा आते ही फांसी देने के लिए रवाना हो जाऊंगा। कोर्ट से निर्भया के दुष्कर्मियों को फांसी की सजा का आदेश सुनते ही कांशीराम आवासीय क्षेत्र में रहने वाला पवन जल्लाद को बेहद खुशी हुई है।

देश लेगा राहत की सांस

पवन का कहना है कि दुष्कर्मियों को फांसी होने के बाद पूरा देश राहत की सांस लेगा। पवन जल्लाद ने बताया कि निर्भया कांड के दोषियों को फांसी की सजा तय होने के बाद से फांसी देने की तैयारी में लगा हुआ है। पवन कहता है कि उसके परिवार की तीन पीढ़ियों से फांसी देने का काम होता रहा है। यदि उसका बेटा ये काम करने के लिए तैयार होगा, तो उसे भी सिखाएगा। पहले भी निठारी कांड के दोषियों सुरेंद्र कोली को फांसी के लिए पवन जल्लाद चर्चा में आए थे। कोली की फांसी टल गई थी। पवन देश की चुनिंदा जल्लाद फैमिली से है, जहां यह काम पीढ़ी-दर-पीढ़ी होता चला आ रहा है। परदादा से लेकर पोते तक ने इस पेशे को अब तक कायम रखा है। उसके दादा कल्लू जल्लाद ने दिल्ली की सेंट्रल जेल में डकैत रंगा-बिल्ला को फांसी दी थी।

दुष्कर्म कांड के आरोपितों को फांसी की मांग

हैदराबाद में पशु चिकित्सक के साथ हुई सामूहिक दुष्कर्म और हत्या की घटना के बाद लोगों का आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा। मंगलवार को भी छात्रों ने घटना के विरोध में कमिश्नरी चौराहे पर नारेबाजी कर हंगामा किया। आरोपितों का पुतला फूंका। मंगलवार की दोपहर को छात्र कमिश्नरी चौराहा पहुंचे। उन्होंने घटना को लेकर आक्रोश जताया। विरोध-प्रदर्शन के बाद आरोपितों का पुतला फूंका। आरोपितों को अतिशीघ्र फांसी की सजा दिए जाने की मांग की। अपनी मांग को लेकर कलक्टेट पहुंचकर डीएम के माध्यम से प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन भेजा। उधर, नरेंद्र मोदी यूथ बिग्रेड ने हैदराबाद की पशु चिकित्सक के साथ सामूहिक दुष्कर्म व हत्या के विरोध में मंगलवार को आक्रोश जताया। कमिश्नरी चौराहे पर विरोध प्रदर्शन किया। साथ ही हत्यारोपितों को फांसी की सजा दिए जाने की मांग की। 

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस