मुजफ्फरनगर, जेएनएन। गांव कुटबी में दो प्रत्याशियों के बीच चल रही तनातनी मंगलवार को मुखर हो गई। दोनों प्रत्याशी आमने-सामने आ गए और जमकर मारपीट हुई। गांव में तनाव फैल गया। एक पक्ष ने पलायन की चेतावनी दी है। एक मकान पर पोस्टर भी चस्पा किए। मामले को लेकर हुई पंचायत में केंद्रीय राज्यमंत्री डा. संजीव बालियान और भाकियू अध्यक्ष चौ. नरेश टिकैत ने दोनों पक्षों में समझौता कराया।

केंद्रीय राज्यमंत्री डा. संजीव बालियान के गांव कुटबी से उनके चाचा के लड़के जितेंद्र और गांव के ही कृष्णपाल ने ग्राम प्रधानी का चुनाव लड़ा है। दोनों में काफी दिनों से तनातनी थी। कृष्णपाल का आरोप है कि मंगलवार को जितेंद्र पक्ष के लोगों ने उनके समर्थक मोहित उर्फ छोटू की पिटाई की और असलाह दिखाकर गोली मारने की चेतावनी दी। इसके बाद दोनों पक्षों में मारपीट हो गई।

पुलिस ने बामुश्किल स्थिति संभाली। कृष्णपाल पक्ष ने दूसरे पक्ष पर दबंगई का आरोप लगाते हुए पलायन की चेतावनी दी है। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर मारपीट और धमकी देने का आरोप लगाया है। केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान दोनों पक्षों के घर गए। एक पक्ष ने मंत्री से साफ कहा कि उनके परिवार वाले दबंगई करते हैं। मंत्री ने कहा कि पूरा गांव उनका परिवार है, वह गलत का साथ नहीं देंगे।

भाकियू अध्यक्ष चौ. नरेश टिकैत ने कहा कि किसी को भी गांव से जाने की जरूरत नहीं है। चुनाव की रंजिश आगे नहीं बढऩी चाहिए। बुजुर्ग युवाओं को समझाएं और युवा बड़ों की बात मानें। पंचायत में दोनों पक्षों में समझौता हो गया।

24 घंटे में हत्या की धमकी का आरोप

प्रधान पद के प्रत्याशी कृष्णपाल पक्ष के छोटू का आरोप है कि दूसरे पक्ष के कई लोगों ने उसे घेर लिया और पिस्टल सटा दी। उसके दूसरे साथी ने 24 घंटे की मोहलत के साथ उसे हत्या की धमकी दी। उक्त लोग पुलिस की मौजूदगी में भी हथियार लहराते रहे।

मतदान के दौरान भी लहराये थे हथियार

कुटबी में सोमवार को मतदान के दौरान और इससे पहले वोट मांगने के दौरान भी दोनों पक्षों में मारपीट हुई थी। एक पक्ष ने पिस्टल और रायफल लहराकर जान से मारने की धमकी दी थी। पुलिस मूकदर्शक बनी रही।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप