मुजफ्फरनगर, जेएनएन। एआइएमआइएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने मुजफ्फरनगर में कहा कि लोकसभा चुनाव में जाटों ने बीजेपी को वोट देकर जिताया था। जब जाट अजीत सिंह को हराकर उन्हें छोड़ सकते हैं तो मुसलमान पुरानी रवायत क्यों नहीं छोड़ रहे हैं।

उन्होंने एनआरसी का जिक्र करते हुए कहा कि मुजफ्फरनगर से बड़ी संख्या में एनआरसी के विरोध में प्रदर्शन हुआ है, जो ठीक है। हम एनआरसी लागू कर मुसलमानों को कमजोर नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि अगर देश में एनआरसी लागू होती है तो वह मुजफ्फरनगर में आकर प्रदर्शन करेंगे।

इस दौरान असदुद्दीन ओवैसी ने सपा सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि मुसलमानों को रिझाने के लिए पार्टी तमाम वादे करती है, लेकिन मुजफ्फरनगर दंगे के दौरान सपा सरकार में 70 मुसलमान एमएलए थे फिर भी मुसलमानों पर नाइंसाफी की गई इस दौरान उन्होंने दंगे के आरोपी को बरी करने में भाजपा की मिलीभगत बताई।

उन्होंने खतौली विधायक विक्रम सैनी को कोर्ट से बरी होने पर कहा कि भाजपा सरकार यदि दंगे के आरोपियों को सजा दिला रही है तो विक्रम सैनी के बरी होने पर हाइकोर्ट में अपील क्यों नहीं करती है कहा कि अब मुसलमानों को अपनी कोम के लिए एक होना होगा तभी गरीब मुसलमानों की आवाज ऊपर तक पहुंचेगी। उन्होंने मजलिस पार्टी के प्रत्याशी को जीता कर मुसलमानों को एक रहने की अपील की।

Edited By: Taruna Tayal