सहारनपुर, जागरण संवाददाता। पुलिस विभाग की डाग स्क्वाड यूनिट में तैनात रही ओकरी नामक डाग की लंबी बीमारी के चलते मौत हो गई। काफी समय से कैंसर से पीड़ित ओकरी की आयु आठ साल छह माह थी। पुलिस लाइंस में शहीद स्मारक के सामने शव को रखा गया, जहां अधिकारियों ने उसे श्रद्धांजलि दी। पुलिस लाइंस परिसर में ही उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

ग्वालियर के सेंटर में हुई ट्रेनिंग

ओकरी नामक फीमेल डाग को 24 जून 2015 को सहारनपुर पुलिस के डाग स्क्वाड में लाया गया था। 2014 में ग्वालियर के सेंटर में उसकी ट्रेनिंग पूरी हुई। डाग के हैंडलर सिपाही धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि ओकरी को कई माह पूर्व कैंसर की पुष्टि हुई थी। पुलिस विभाग के अस्पताल के अलावा कई अन्य जगह उसका इलाज चला लेकिन बुधवार सुबह उसकी मौत हो गई। एसएसपी विपिन ताड़ा, एसपी सिटी राजेश कुमार, एसपी देहात सूरज राय आदि अधिकारी, कर्मचारियों ने ओकरी को श्रद्धांजलि दी। हैंडलर सिपाही धर्मेंद्र सिंह ने ओकरी द्वारा किए गए सराहनीय कार्यों की जानकारी दी।

इन अपराधों के राजफाश में रहा ओकरी का योगदान

- गागलहेड़ी में मां-बेटे की गला रेतकर हत्या करने वाले को घटना के कुछ घंटों बाद ही खोज निकाला।

- सरसावा में तीन लाख का डोडा पोस्त बरामद कराया।

- कुतुबशेर में बच्ची से दुष्कर्म व हत्या करने वाले तीन आरोपितों को झुग्गी झोपड़ी से खोज निकाला।

- गागलहेड़ी में सिपाही की हत्या करने वाले दंपती को खोजकर सामने लाई।

- जनकपुरी क्षेत्र में बच्ची की बलि देने वाले आरोपित की तलाश की।

- गागलहेड़ी क्षेत्र में बच्चे के शव को झोपड़ियों से खोजकर निकाला।

Edited By: Taruna Tayal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट