सहारनपुर, जागरण संवाददाता। परिषदीय स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को दिए जाने वाले मिड-डे मील बनाने के लिए रखे गए रसोइयों को अब प्रशिक्षित किया जाएगा। इसी के साथ नवीन पोषण प्रशिक्षण फिल्म दिखाने के साथ ही प्रधानाध्यापकों के साथ बैठक में अहम बिंदुओं पर चर्चा भी कराई जाएगी।

प्रशिक्षण के दौरान दिखाई जाएगी फिल्म 

परिषदीय प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों में इस बार बच्चों की संख्या में उम्मीद के मुताबिक नामांकन की संख्या गत वर्ष के मुकाबले 6000 तक की वृद्धि हुई है। अब स्कूलों में बच्चों का नामांकन 1. 96 लाख हो गया है। बच्चों के नामांकन बढ़ने के साथ ही विभाग ने नई पहल भी की है इसके अंतर्गत मिड-डे मील में खाना बनाने वाले रसोइयों को पौष्टिक आहार बनाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। फिल्म दिखाकर उन्हें बताया जाएगा कि सब्जियों को बनाने से पहले किस प्रकार से साफ कर काटा जाए, ताकि उनके पोषक तत्व बरकरार रहें और यदि स्कूलों में पोषण वाटिका है तो उसका कैसे बेहतर तरीके से उपयोग किया जा सकता है। उसमें साफ सफाई संबंधी सावधानियों पर विशेष ध्यान होगा।

प्रशिक्षण दिसंबर तक पूरा करने के निर्देश

प्रशिक्षण चरणबद्ध ढंग से स्कूलों में दिसंबर तक पूरा किए जाने के निर्देश हैं। जिले में मिड-डे मील बनाने वाले रसोइयों की संख्या 42 से ज्यादा है। मध्यान भोजन प्राधिकरण द्वारा इस संबंध में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को विस्तृत दिशानिर्देश भेजे गए हैं। जिससे प्रशिक्षण को चरणबद्ध ढंग से स्कूल में प्रधानाध्यापकों के साथ मिलकर कराया जा सके।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अंबरीश कुमार ने बताया प्राधिकरण के निर्देशों के अनुपालन में खंड शिक्षा अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए जा रहे हैं। समय-समय पर प्रशिक्षण की निगरानी भी कराई जाएगी ताकि सभी बिंदुओं को अमल करते हुए व्यवहार में लाया जा सके।

Edited By: Taruna Tayal