सहारनपुर, जेएनएन। जब कोरोना का प्रकोप कम हो रहा है तो इसका मतलब यह कतई नहीं है कि कोरोना समाप्त हो गया है। कोरोना से बचाव के लिए जरुरी है कि अब भी हम सब गाइड लाइन का पालन कर इससे बचाव करें यही सबसे बड़ा उपचार है। बचाव तभी हो सकता है, जब लोग नियमों का पालन करेंगे।यह तभी संभव है जब हम आवश्यक कार्य के लिए ही घर से बाहर निकले। यदि लापरवाही करते रहेंगे तो बचाव नहीं होगा और एक बार फिर हर कोई कोरोना संक्रमण का शिकार हो जाएगा।

इसके साथ ही यह भी जरुरी है कि इम्यूनिटी बढ़ाई जाए ताकि कोरोना को मात दी जा सके।सीएचसी सरसावा के प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. राजेश कुमार का कहना है कि इम्यूनिटी बढ़ाने के कई फायदें हैं। कोरोना वायरस ही नहीं, किसी भी बीमारी का वायरस मजबूत इम्यूनिटी वाले शरीर को छू भी नहीं सकता। यदि किसी कारणवश वायरस शरीर में प्रवेश भी कर जाता है तो मजबूत इम्यूनिटी वाला व्यक्ति जल्द ही ठीक हो जाएगा।

डाक्टर का कहना है कि इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए सुबह के नाश्ते में उबली दाल, उबला गेहूं, जौ और गेहूं का दलिया आदि खाना चाहिए। सुबह के समय एक गिलास दूध का भी जरूर पीना चाहिए। इसके अलावा दोपहर के खाने में हरी सब्जी का इस्तेमाल करना चाहिए। सलाद में टमाटर, मूली, नींबू, प्याज आदि होने चाहिए। रात के खाने मे भी प्रोटीन होना जरूरी है। सोने से पहले एक गिलास दूध पीना चाहिए। रात के समय बादाम को भिगेाकर रख देने चाहिए। सुबह के समय छिलका उतारकर खाने चाहिए। वहीं, रोजाना सुबह और शाम के समय एक्सरसाइज करनी चाहिए। जिससे खून का दौर तेजी के साथ हो। 

Edited By: Taruna Tayal