मेरठ, जेएनएन। गांवों में डेंगू के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर साफ-सफाई व फांगिग कराने के विशेष निर्देश हैं। इसके बावजूद मेरठ, रोहटा, खरखौदा आदि विकास खंड क्षेत्र की 44 ग्राम पंचायतों में अभियान ही शुरू नहीं हुआ। इस पर पंचायतराज अधिकारी ने सात एडीओ पंचायत को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है। स्पष्टीकरण नहीं देने पर निलंबन की चेतावनी दी है। पांच सफाई कर्मियों को निलंबित किया गया है। जांच में सामने आया कि मेरठ, रोहटा व खरखौदा विकास खंड की 44 ग्राम पंचायतों में सफाई व फागिंग नहीं कराई गई।

नहीं किया निर्देशों का पालन

गांवों में डेंगू की रोकथाम के लिए शासन ने विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए थे। जिला प्रशासन ने भी जिला पंचायतराज विभाग को दिशा-निर्देश जारी किए हैं। जनपद की सभी 479 ग्राम पंचायतों में विशेष साफ-सफाई के साथ एंटी लार्वा व कीटनाशक छिड़काव कराया जाना है। जांच में सामने आया कि मेरठ, रोहटा व खरखौदा विकास खंड की 44 ग्राम पंचायतों में सफाई व फागिंग नहीं कराई गई।

गांव-गांव में होगी निगरानी

डेंगू का प्रकोप बढ़ने के साथ निगरानी तेज हो गई है। गांवों में कोरोना की तर्ज पर ही निगरानी समिति सक्रिय कर रिपोर्ट बनाई जा रही है। ग्रामीणों के बीमार होने की स्थिति में स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी जा रही है।

इन्‍होंने बताया...

ग्राम पंचायतों में साफ-सफाई का विशेष अभियान चलाने व फागिंग कराने के लिए निर्देशित किया हुआ है। कार्य में लापरवाही पर एडीओ पंचायत को नोटिस जारी करने के साथ पांच सफाई कर्मियों को निलंबित भी किया गया है।

- रेनू श्रीवास्तव, डीपीआरओ

 

Edited By: Taruna Tayal