जेएनएन, मेरठ। शहर के चार थाना क्षेत्रों में शुक्रवार को हुए उपद्रव के बाद अभी जिला प्रशासन पूरी तरह सतर्कता बरत रहा है। धारा-144 लागू होने के कारण उपद्रव प्रभावित क्षेत्रों में जाने वाले जनप्रतिनिधियों को भी नोटिस भी दिया जा रहा है।

डीएम अनिल ढींगरा का कहना है कि घटना के बाद अब शहर का माहौल सामान्य हो रहा है। सामान्य होते माहौल में सभी का सहयोग मिल रहा है। किसी को भी माहौल खराब करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। जनप्रतिनिधियों के उपद्रव प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने पर उनका कहना है कि किसी को भी जाने से नहीं रोका जा रहा है, लेकिन शहर में धारा-144 लगी हुई है। जिस कारण उन क्षेत्रों में जाने पर जिला-प्रशासन सभी को नोटिस भी दे रहा है। यदि किसी जनप्रतिनिधि केवहां जाने से कानून व्यवस्था आदि की स्थिति में कोई दिक्कत आती है तो फिर वही जिम्मेदार होंगे।

....

सीएए नागरिकता देने के लिए है लेने के लिए नहीं

मेरठ: शहर में शुक्रवार को हुए उपद्रव के बाद अब माहौल को सामान्य करने के लिए पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी लगातार प्रयास कर रहे हैं। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के बारे में भी जानकारी दे रहे हैं ताकि कानून को लेकर भ्रम की स्थिति पैदा न हो। सिटी मजिस्ट्रेट संजय कुमार पांडेय ने बुधवार को शहर के इमलियान व श्यामनगर समेत अन्य स्थानों पर देर रात तक लोगों के साथ बैठक की। जिनमें विस्तार से नागरिकता संशोधन कानून के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नागरिकता संशोधन कानून लोगों को नागरिकता देने के लिए है, लेने के लिए नहीं है। इस कानून को लेकर भ्रमित न हों। उन्होंने अफवाहों पर ध्यान न देने पर शहर में शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की। इस दौरान एसपी सिटी डा. अखिलेश नारायण सिंह, सीओ कोतवाली दिनेश शुक्ला व नायब शहर काजी जैनुर राशिदीन, हाजी शौकत साहिब, हाजी दिलशाद, इकराम सैफी, मो. हनीफ आदि मुख्य रूप से मौजूद रहे।

जासं

राजेंद्र शर्मा

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस