मेरठ, जेएनएन। यातायात पुलिस गांवों में पंचायत करने जा रही है, जिसमें ग्रामीणों को एकत्र कर यातायात नियमों की जानकारी दी जाएगी। ताकि हादसों की संख्या कम हो सकें। दरअसल, हाईवे पर 18 प्वाइंट ऐसे हैं, जहां पर लगातार हादसे हो रहे हैं। पुलिस मान रही है कि ग्रामीणों को यातयात नियमों की जानकारी होने के बाद हादसों में कमी आएगी।

सबसे ज्यादा हादसे 18 प्वाइंटों पर

एसपी ट्रैफिक ने बताया कि जनपद में सबसे ज्यादा हादसे 18 प्वाइंटों पर हो रहे है। हादसे वाले सभी प्वाइंट हाइवे पर स्थित हैं। ऐसे में पुलिस ने हाईवे के समीप परतापुर, टीपीनगर, जानी, कंकरखेड़ा, पल्लवपुरम और दौराला थाना क्षेत्रों के 50 गांव चिन्हित किए गए, जिनमें पुलिस पंचायत लगाएंगी। एक टीएसआइ प्रत्येक दिन एक गांव में अपनी टीम में साथ पहुंचेगा। वहां पहले से ही ग्राम प्रधान ग्रामीणों की पंचायत आयोजित कर। ताकि टीएसआइ ग्रामीणों को यातायात के नियमों की विस्तार से जानकारी देंगे। पुलिस की इस पहल से हाईवे पर होने वाले हादसों में शायद कमी आए। 15 नवंबर से इस अभियान की शुरुआत की जा रही है। सभी टीएसआइ का सप्ताह का प्लान तैयार कर दिया है।

जानकारी का है अभाव

शहर के हाईवे स्थित 18 प्वाइंटों पर छोटे-बड़े करीब 60 हादसे होते है। ज्यादातर हादसों के शिकार हाईवे पर स्थित पड़ने वाले गांव के लोग ही होते है। एसपी ट्रैफिक ने बताया कि हादसे ज्यादा इसलिए होते हैं, क्योंकि ग्रामीणों को यातायात के नियमों की जानकारी नहीं है। नियमों और दंड के प्रावधान की जानकारी होने के बाद हादसों में कमी आएगी।

Posted By: Prem Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप