मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

मेरठ, जेएनएन। New Traffic Rules ट्रैफिक के नए नियमों के बाद अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए मारामारी जारी है। गुरुवार को भी एक हजार से अधिक लोगों ने फीस जमा कराई। अगर आवेदकों की संख्या इसी तरह बढ़ती रही तो 90 दिनों की लिमिट भी अगले तीन-चार दिनों में समाप्त हो जाएगी। भीड़ उमड़ने से व्यवस्था चरमरा गई है।

लग रही लंबी-लंबी कतारें
बतातें चलें कि आरटीओ ने दो माह के बाद स्लाट बुक नहीं होने से तीस दिनों की लिमिट और बढ़ा दी है। शुक्रवार को सारथी कार्यालय में आवेदकों की लंबी कतार लगी। लाइन भवन के बाहर 50 मीटर तक पहुंच गई। सारथी भवन में रोजाना दो हजार आवेदक पहुंच रहे हैं। लर्निग, स्थायी और डुप्लीकेट सभी प्रकार के आवेदनों को जोड़ लिया जाए तो आठ सौ से अधिक का निस्तारण नहीं हो सकता है। दो हजार के लगभग लोग ऐसे मे भारी भीड़ के चलते व्यवस्था चरमरा गई है। आवेदकों के बीच जल्द प्रवेश को लेकर धक्का मुक्की और मारपीट की नौबत आ रही है।

साइबर कैफे और दलालों की चांदी
संभागीय परिवहन विभाग कार्यालय के बाहर साइबर कैफे वालों की चांदी हो गई है। कैफे संचालक एक आवेदन के 250 रुपये तक ले रहे हैं, जबकि लर्निग की फीस ही 350 रुपये है। दलाल भी सक्रिय हो गए हैं।

सोमवार को होगी समीक्षा
आरटीओ डा. विजय कुमार ने बताया कि सोमवार को आवेदनों की संख्या की समीक्षा की जाएगी। आवेदकों की संख्या इसी तरह बढ़ेगी तो मुख्यालय से अनुमति लेकर इसे बढ़ा कर 105 दिन भी किया जा सकता है। वर्तमान स्थिति में एक माह में अधिकतम 5500 लाइसेंस बनाए जा सकते हैं। आरटीओ ने बताया कि कई लोग बिना स्लाट बुक किए भी आ रहे हैं। इससे भी अनावश्यक भीड़ लग रही है।

इस तरह करें आवेदन
लाइसेंस के लिए आवेदन की प्रक्रिया बहुत सरल है। लर्निग लाइसेंस के लिए खुद भी आवेदन किया जा सकता है। www.parivahn.gov.in में जाकर आनलाइन सर्विसेज में क्लिक करने पर ड्राइविंग लाइसेंस रिलेटेड सर्विस को सलेक्ट करना होता है। इसके बाद यूपी स्टेट का चयन करने के बाद आन लाइन मैन्यु पर क्लिक करते ही कई आप्शन आते हैं। इनमें लर्निग लाइसेंस का भी होता है। पोर्टल को अपडेट किया जा रहा है। रात में दो घंटे के लिए इसे बंद किया जाएगा।

Posted By: Prem Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप